Add

Breaking News

टीकमगढ़ में चला प्रशासन का बुलडोजर एसडीएम बोले- 20 एकड़ गोचर भूमि से हटाया कब्जा


टीकमगढ़ । जिले के प्रसिद्ध बगाज माता मंदिर के पास शुक्रवार को प्रशासन ने सरकारी जमीन से अवैध कब्जा हटाया। दल बल के साथ पहुंची अधिकारियों की टीम ने गोचर भूमि में बने एक मकान को धराशाई कर दिया। इस दौरान स्थानीय लोगों ने कार्रवाई का विरोध भी जताया, लेकिन प्रशासन ने उनकी एक नहीं सुनी।
शुक्रवार दोपहर एसडीएम सीपी पटेल आरआई, पटवारी और पुलिस टीम के साथ गाज माता मंदिर के पास पहुंचे। उन्होंने मंदिर थोड़ी दूर सरकारी जमीन पर बने राघवेंद्र सिंह सोलंकी के मकान को जेसीबी मशीन से तोड़ना शुरू किया। इस दौरान स्थानीय लोगों नोटिस दिए बिना मकान गिराने की कार्रवाई को गलत ठहराया। मौके पर अवैध कब्जा धारियों और प्रशासन के बीच काफी देर तक बातचीत चली। आखिरकार अधिकारियों ने सरकारी जमीन पर अवैध तरीके से कब्जा करने वालों की एक नहीं सुनी और उनके पक्के निर्माण को जेसीबी मशीन से तोड़ दिया। एसडीएम ने बताया कि बगाज माता मंदिर के पास 20 एकड़ गोचर भूमि से अवैध कब्जा हटाया गया है। इसके अलावा ग्राम पंचायत जटउआ और कछिया खेरा में भी लोगों ने अवैध तरीके से गोचर भूमि पर कब्जा जमा रखा है।
गाज माता के अलावा जटउआ और कछियाखेरा में भी गोचर भूमि को अवैध कब्जे धारियों के चंगुल से मुक्त कराया जाएगा। उन्होंने बताया कि कार्रवाई से पहले अवैध तरीके से मकान बनाने वालों को नोटिस जारी किए गए थे। निश्चित समय सीमा में लोगों ने अवैध कब्जा नहीं हटाया। जिसके चलते आज पुलिस बल के साथ मौके पर जाकर जेसीबी मशीन से पक्के निर्माण तोड़े गए हैं।

No comments