Breaking News

जिला चिकित्सालय में एक्सपायर वाटल चढ़ाने से दो शिशुओ की बिगड़ी हालत


ड्यूटी पर उपस्थित स्टाफ नर्स की लापरवाही आई सामने, उठा डॉक्टरों से भरोसा

टीकमगढ़ । जिला अस्पताल टीकमगढ़ मैं स्टाफ नर्सों एवं जिम्मेदारों की लापरवाही के चलते दो बालकों की जिंदगी बाल बाल बची, नाबालिक सुधीर झा उम्र 6 वर्ष पिता बृजेश झा निवासी मौगना थाना दिगोडा, एवं रुद्र यादव उम्र 5 वर्ष निवासी कुर्राई थाना दिगोडा, दोनों बालकों को बुखार आने पर सोमवार की शाम जिला चिकित्सालय कि बच्चा वार्ड में भर्ती कराया गया था जहां ड्यूटी पर उपस्थित डॉक्टरों के द्वारा मंगलवार की सुबह एक्सपायर वाटल चढ़ाने से दोनों बालकों की अचानक तबीयत बिगड़ गई जिसकी जानकारी ड्यूटी पर तैनात स्टाफ नर्स को दी गई लेकिन उनके द्वारा इस लापरवाही की ओर ध्यान नहीं दिया गया कुछ देर बाद पता चला की दी गई दवाई एक्सपायर है , तो वालको के माता-पिता की सुट्टी पुट्टी गुम हो गई, इसकी जानकारी कुछ देर बाद वायरल हो  होकर अस्पताल परिसर से बाहर निकली जिसकी जानकारी जिला प्रशासन को दी गई इसके बाद जिला कलेक्टर सुभाष कुमार द्विवेदी के आदेश पर टीकमगढ़ एसडीएम सौरव मिश्रा और नायब तहसीलदार सुरेंद्र अहिरवार ने मौके पर पहुंच कर गंभीर स्थिति मैं जिला अस्पताल में भर्ती बालकों के स्वास्थ्य की सुध ली तो वही बच्चों की स्थिति पर उनके माता-पिता से पूछताछ की उन्होंने बताया यह जिला अस्पताल में बहुत बड़ी लापरवाही है  लापरवाही स्पष्ट होने पर जल्द ही दोषियों पर कार्यवाही की जाएगी

कोई टिप्पणी नहीं