Breaking News

बहनों ने भाई की कलाई मैं बांदा प्रेम का धागा,भाइयों के खिल उठे चेहरे

*रक्षा बंधन पर्व भाई-बहनों का त्योहार*
यूं तो भारत में भाई-बहनों के बीच प्रेम और कर्तव्य की भूमिका किसी एक दिन की मोहताज नहीं है पर रक्षाबंधन के ऐतिहासिक और धार्मिक महत्व की वजह से ही यह दिन इतना महत्वपूर्ण बना है। बरसों से चला आ रहा यह त्यौहार आज भी बेहद हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है।
हिन्दू श्रावण मास (अगस्त) के पूर्णिमा के दिन मनाया जाने वाला यह त्योहार भाई का बहन के प्रति प्यार का प्रतीक है। रक्षाबंधन पर बहनें भाइयों की दाहिनी कलाई में राखी बांधती हैं, उनका तिलक करती हैं और उनसे अपनी रक्षा का संकल्प लेती हैं। हालांकि रक्षाबंधन की व्यापकता इससे भी कहीं ज्यादा है इस दिन छोटे छोटे भाई बहिन भी खुश नजर आते है इस पावन पर्व पर बहन ने अपने भाई की कलाई में रक्षा सूत्र बात करें उनकी आरती उतारती हैं और उनके जीवन की मंगल कामना करती हैं तो वही भाई अपनी बहन की हर संभव रक्षा एवं मदद करने की शपथ लेता है
सिर्फ भाई-बहन के बीच का कार्यकलाप नहीं रह गया है। राखी देश की रक्षा, पर्यावरण की रक्षा, हितों की रक्षा आदि के लिए भी बांधी जाति है

कोई टिप्पणी नहीं