Breaking News

मानसिक विक्षिप्त महिला को उसको घर पहुंचा कर मानवता की मिसाल बने पत्रकार गिरीश कुमार खरे ।

टीकमगढ़ ।  कहते हैं बिछ्डे हुये को मिलाना नेक काम होता है ऐसा ही काम  टीकमगढ़ शहर  के  समाजसेवी एवं सी न्यूज़ भारत के रिपोर्टर गिरीश खरे द्वारा लगातार किया जा रहा है  और वह बिछड़े हुए परिवारों को मिलाने में अहम भूमिका निभाते हैं कई  बिछड़े हुए बच्चों को उनके मां-बाप से मिलवाया  जब भी  ऐसी जानकारी लगती है तब यह उस व्यक्ति से बात कर एवं सोशल मीडिया के माध्यम से उस बिछड़े हुए व्यक्ति को उसके परिवार से मिलाने में लग जाते हैं और पूरी कोशिश करते हैं ।   कुछ ऐसा ही मामला बीते दिन का है नगर मैं स्थित नया बस स्टैंड पर एक दिमागी तौर से विक्षिप्त महिला बस स्टैंड पर घूम रही थी जिसकी सूचना व्हाट्सएप के माध्यम से समाजसेवी पत्रकार  गिरीश खरे  के पास पहुंची तो तुरंत बस स्टैंड पर पहुंचकर उस महिला को देखा और उससे बात की तो पता चला कि यह महिला दमोह जिले के ग्राम किशनगढ़ की है  महिला की सूचना उनके द्वारा पुलिस थाने में की गई जहां महिला को सुरक्षा प्रदान करने के लिए थाना परिसर में भिजवाया गया और साथ ही उनके द्वारा सोशल मीडिया के माध्यम से अपने परिचित लोगों से उस महिला की जानकारी जुटाना शुरू कर दीया । गिरीश खरे ने बताया  की जब महिला से बात की तो उसने कहा कि  वह जित्तू खरे के गांव की हैं बस वही से गिरीश खरे ने परिवार का पता लगाना शुरू किया क्योंकि जित्तू खरे बुंदेलखंड के प्रसिद्ध गायक है जिनसे संपर्क किया गया मानसिक विक्षिप्त महिला के परिवार से बात की एवं परिवार को टीकमगढ़ बुलाया गया जब मानसिक विक्षिप्त महिला का परिवार थाने पहुंचा तो वह महिला जोर जोर से रोने लगी और अपने परिवार को पहचान लिया जिसके बाद पुलिस ने अपनी कार्यवाही करके विक्षिप्त महिला को परिवार को सौंपा टीकमगढ़ कोतवाली एसआई  अंकित दुबे द्वारा बताया गया की लापता महिला को  उसके परिवार  से मिलाने में  समाजसेवी पत्रकार  गिरीश खरे की अहम भूमिका रही  उनकी खोजबीन के द्वारा  ही परिवार का पता लगाया जा सका  और एक महिला को  उसके परिवार से मिलवाया गया वहीं इस मामले में निर्भया मोबाइल में पदस्थ कैलाशी अहिरवार महिला आरक्षक सुधा चौधरी निर्भया मोबाइल चालक गुलाम कादर खान की अहम भूमिका रही

कोई टिप्पणी नहीं