Breaking News

बुनकर समाज की आवश्यक बैठक बैदपुर मंदिर में संपन्न हुई


बैठक में सामाजिक कुरीतियां दूर करने व समाज का अनुसूचित जाति का प्रमाणपत्र बनवाने पर विचार किया गयाबुनकर समाज शासन के कागजों में दर्ज हैं अनुसूचित जाति
 
समाज के प्रदेश अध्यक्ष रामदास सर्वोहम ने शिक्षा पर दिया जोर
महरौनी । जहां सभी समाजें अपने विकास की और अग्रसर है वहीं पूरे जिले में बुनकर समाज कोई भी विकास नहीं कर  पायी है। देश को आजाद हुए इतने साल होने के बाद भी समाज किसी भी ऊंचाई पर नहीं पहुंची है। चूंकि यह समाज आर्थिक रूप से इतनी कमजोर है कि मेहनत मजदूरी करके अपने परिवार का भरण-पोषण करती हैं। शासन द्वारा सरकारी नौकरियों से भी वंचित रही हैं। चूंकि यही समाज मध्यप्रदेश में अनुसूचित जाति में दर्ज हैं। और उत्तर प्रदेश में भी अनुसूचित जाति में दर्ज हैं लेकिन यहां पर जाति प्रमाण-पत्र जारी नहीं किया जाता है । इस मामले में शीघ्र ललितपुर जिलाधिकारी से समाज का एक डेलीगेशन मुलाकात करके सभी दस्तावेजों से अवगत करायेगा।और शीघ्र ही इस समाज को अनुसूचित जाति का प्रमाणपत्र जारी होगा। वहीं बैठक में समाज में व्याप्त तेरहवीं जैसी कुरीतियों को दूर करने पर जोर दिया गया । और समाज को ज्यादा से ज्यादा शिक्षित करने पर भी जोर दिया गया है। समाज की यह बैठक बैदपुर मंदिर पर आहूत की गयी हैं।बैठक में रामदास सर्वोहम,कोमल विरधा, प्यारेलाल जखौरा,जालम गुमची, प्यारेलाल गुमची,अमोल सिंह,कलंक, रमेश प्रसाद,परशूराम,खुशीलाल,राजू,अनिल माते,गब्बर टेनगा,आशाराम,शीतल,नत्थू , रामसेवक,खुमान, राजकुमार,दुरजू,रामदास बाबू जी,अशोक कुमार,आशाराम समोंगर,मौजीलाल गुढ़ा,हरीराम,खुशीराम आदि उपस्थित रहे।

कोई टिप्पणी नहीं