Breaking News

समाज से बहिष्कृत करने की दी धमकी तो पीड़ित परिवार ने एस पी के दरबार मैं लगाई गुहार

टीकमगढ़,, कानून में समाज से बहिष्कृत करना एवं बहिष्कृत करने की धमकी देना भले ही जुर्म हो लेकिन ग्रामीण अंचलों सामाजिक बहिष्कार की आज भी धमकियां दी जाती हैं ऐसा ही ताजा मामला  टीकमगढ़ जिले के थाना लिधौरा के गांव सतगुवा का है जहां पर 1 वर्ष पूर्व एक दलित परिवार का कुशवाहा समाज से विवाद हुआ था जिसमें दलित परिवार के साथ मारपीट के साथ-साथ जातिसूचक अभद्रता की गई थी जिस पर लिधौरा पुलिस ने मामले की जांच कर आरोपियों के विरुद्ध मारपीट की धाराओं के साथ एससी एसटी एक्ट के तहत कार्यवाही की थी फरियादी पक्ष के साथ रिपोर्ट कराने गांव के कुछ अन्य व्यक्ति आए थे जो अब अपना हिस्सा वसूल करने की धमकी दे रहे हैं इतना ही नहीं पीड़ित परिवार को एससी एसटी के तहत प्राप्त हुई राशि में से हिस्सा बांटने की बात कह रहे हैं नहीं तो धमकी दे रहे हैं कि तुम्हें समाज से बाहर कर दिया जाएगा और तुम्हें किसी फर्जी  केस में फसा दिया जाएगा इसी बात से पीड़ित परिवार एसपी के दरबार में आवेदन देने आया है और दबाव बना रहे लोगों पर कार्यवाही की मांग की

कोई टिप्पणी नहीं