Breaking News

खाद्यान वितरण की शिकायत पर चौमो पहुचे डिप्टी कलेक्टर





दो माह से खाद्यान वितरण ना करने का उपभोक्ताओ ने लगाया आरोप
पृथ्वीपुर- कोरोना सक्रमण महामारी के बीच शासन द्वारा जनता कर्फ्यू लगाया गया है जिसके तहत उपभोक्ताओ को निशुल्क राशन का वितरण किया जाना था। और चौमो ग्राम पंचायत के उपभोक्ताओ को दो माह से राशन का वितरण नही होने की शिकायत पर डिप्टी कलेक्टर ने मौके पर पहुचकर उपभोक्ताओ से चर्चा कर ब्यान दर्ज किये है। 

कोरोना सक्रमण के बीच जनता कर्फ्यू को लेकर केन्द्र और प्रदेश सरकार के द्वारा संयुक्त रूप से चार माह का उपभोक्ताओ को राशन वितरण करने की व्यस्था की गई है। और प्रत्येक गरीब व्यक्ति को खाद्यान का वितरण करने के निर्देश दिये गये है। बाबजूद उसके उपभोक्ताआ को उचित मूल्य की दुकानो से समय पर राशन का वितरण नही किया जा रहा है और मिलने बाला चार माह के गेंहू में भी कटौती करके उन्हे पैसे लेकर उक्त खा़द्यान का वितरण हो रहा है। ग्राम पंचायत चौमोखास उपभोक्ता छन्दीलाल,आशाराम, केशवप्रसाद, आदि ने जिले के कलेक्टर एवं खाद्य विभाग के अधिकारियो से शिकायत दर्ज कर आरोप लगाया कि शासकीय उचित मूल्य की दुकान चौमो के द्वारा पिछले दो माह से जो राशन निशुल्क मिलना था उसे पैसे लेकर वितरण किया गया। और दो माह का जो फ्री राशन दिया जाना था उसका वितरण नही किया गया। और आदि अधूरी सामग्री भी उपभोक्ताओ को दी गई। शिकायत पर जिले के डिप्टी कलेक्टर कुशल सिंह गौतम ने मौके पर पहुचकर उचित मूल्य की दुकान का निरीक्षण में मौके पर दुकान बंद पाई गई। और उपभोक्ताओ ने अपने ब्यान दर्ज कराये कि फरवरी मार्च में आदि अधूरी सामग्री प्राप्त हुई तथा अप्रेल माह से आज तक कोई भी सामग्री का वितरण नही किया गया। सेल्समेन मनीष कुशवाहा ने एक माह पहले पैसे लेकर पर्ची दी थी लेकिन पैसा लेने के बाबजूद उन्हे राशन नही दिया गया। और जब ग्रामीण सेल्समैन को मौके पर लेकर आये और दुकान खोलने पर पाया गया कि वितरण कक्ष में चार बोरी गेहू, चार बोरी चावल, दो बोरी नमक, एक बोरी बाजरा रखा हुआ है। शेष सामग्री के बारे सेल्समेन ने बताया कि कुछ सामग्री दूसरे कमरे में रखी हुई है जिसकी चाबी समिति में रखी हुई है। अधिकांश खाद्यान का मनेथा ग्राम की दुकान में ट्रार्स्फर हो गया है। समिति प्रबधंक के पास उनकी दुकान में रखा हुआ है। और उक्त समिति प्रबधक गनेश प्रसाद विश्वकर्मा के द्वारा चौमो का पूरा खाद्यान रामराजा विपणन सहकारी समिति को दे दिया है। चौमो दुकान में दो माह से कोई खाद्यान सामग्री वितरण नही होना पाया गया। मौके पर पर्ची लेकर उपभोक्ताओ को खाद्यान का सामने ही वितरण कराया गया। साथ ही सामग्री वितरण करने के तत्काल निर्देश दिये गये। खाद्यान सामग्री की हुई कालाबाजारी का मौके पर पंचनामा तैयार कर संबधितो के विरूद्व कार्यवाही प्रस्तावित की जा रही है। इसी क्रम में ग्राम पंचायत सिमराभाटा, कछियाखेरा के उपभोक्ताओ ने धांधली का आरोप लगाया है ग्राम के काशीराम कुशवाहा, आशोक कुशवाहा, धर्मेन्द्र यादव, रामस्वरूप कुशवाहा, बैजनाथ, दीपेश, नीलेश राजपूत, गोपल विशवकर्मा, अंशुमान मिश्रा, हरिराम राजपूत आदि ने जिले के कलेक्टर से शिकायत करते हुये कहा कि राशन वितरण लगातार धांधली की जा रही है 40 किलो के राशन के स्थान पर 35 किलो दिया जा रहा है जो निशुल्क वितरण किया जाना था वह पैसे लेकर दिया जा रहा है। बडे पैमाने पर उचित मूल्य की दुकानो पर आने वाले निशुल्क खा़द्यान को सम्पूर्ण रूप से ना बाटकर मनमाने तरीके से धांधली की जा रही है। 

कोई टिप्पणी नहीं