Breaking News

मास्क घर में भूल आये तो पुलिस ने ऐसी सीख दी कि अब मास्क लगाना कभी नहीं भूलेंगे

पृथ्वीपुरः- कोरोना संक्रमण महामारी की रोकथाम के लिये प्रशासन द्वारा गाईड लाईन का पालन कराया जा रहा है। रानीगंज चैक पोस्ट पर एक बार फिर पुलिस ने बगैर मास्क के घूम रहे लोगों को पकडा तो बताया कि मास्क घर मे भूल आये तो पुलिस ने बिना मास्क के मिले लोगों से स्वयं मास्क सिलवाकर लगाने की अनोखी सजा दी। जो एक साल में मास्क पहनना नहीं सीख पाया उसे सबक सिखाना बहुत जरूरी है कुछ ऐसे लापरवाह लोग जो घर से बेवजह निकलने की गलती करते हैं और महामारी परिकृय में मास्क न पहनकर जान बूझकर संक्रमण फैलाने जैसा आपराधिक कृत्य करते हैं। इसको लेकर रानीगंज चैक पोस्ट पर पुलिस अधीक्षक आलोक कुमार सिंह के सख्त निर्देश हैं कि चेक पोस्ट पर कोई भी बेवजह नहीं निकलेगा और बिना मास्क के पूर्णतः प्रतिबंधित रहेगा। वहीं एसडीओपी संतोष पटेल ने नाके पर तैनात कर्मचारियों के साथ मिलकर बिना मास्क वालों के खिलाफ कड़क मुहिम छेड़ी है। शहर में बिना मास्क वालों को रोको टोको अभियान के तहत नगर पालिका व पुलिस की टीम 50 रुपये का चालान काटकर व मास्क पहनने की समझाइश देकर छोड़ देती थी लेकिन आज रानीगंज चेक पोस्ट की टीम ने कुछ अलग अंदाज में बिना मास्क वालों को सीख दी जो महामारी खत्म होने के बाद भी याद रहेगी।नौ तपा की तपती दुपहरी जब धरती और आसमान दोनों आग उगलते हैं उस वक्त बजरी और गरम पत्थर की प्राकृतिक कुर्सी के ऊपर बैठकर सुई धागे से मास्क सिलने का टास्क दे दिया। घण्टो की मेहनत के बाद जब मास्क सिल पाए व पसीना बहने लगा तब जाके ऐहसास हुआ कि मुझे 5 रुपये का मास्क पहनकर निकलना चाहिए था। हालांकि 2 घंटे के कड़क रोको टोको अभियान में 4 लोग ही बिना मास्क के मिले थे जो कि यह बताता है कि अधिकतम लोगों ने मास्क को अपनी आदत में डाल लिया है। चारों ने धूप में मास्क सिले और फिर एसडीओपी द्वारा उन्हे सर्जिकल मास्क उपहार में दिया गया तथा गलती का एहसास करवाते हुए मास्क पहनने और टीका लगवाने का संकल्प पीपल के पौधे के समक्ष दिलाया गया बाद में वापस उसी रास्ते भेजा जिससे वो गलती करते हुए आये थे। रानीगंज चेक पोस्ट की सतर्क, सक्रिय और संतुलित टीम के सदस्य पुलिस आरक्षक हरचरण, कुमार शानू, राजेन्द्र मालवीय, कुलदीप, सुरेंद्र, पटवारी राकेश त्रिपाठी, अरविंद गुप्ता, शिक्षा विभाग कल्लू अहिरवार, राधेलाल राजपूत, कोटवार गणेश्वर, सुनील आने जाने वालों को तरह तरह की सबक सिखा रहे हैं ताकि पृथ्वीपुर क्षेत्र को संक्रमण से बचाया जा सके।



कोई टिप्पणी नहीं