Breaking News

चिंताजनक, छतरपुर और निवाड़ी जिले में ब्लैक फंगस से हुई युवको की मौत

निवाड़ी l जिले के जेरोन गांव में लगभग 35 वर्षीय सौरभ पांडेे की ब्लैक फंगस के कारण मौत हो गई है कुछ दिन पहले ही कोरोना की जंग जीत कर अपने घर पर वापस आया था।
घर पहुंचने की 1 दिन बाद उनके आंखों के पास आए काले धब्बे, और उनकी नाक से खून भी आया उनके सर में दर्द और एक तरफ का हिस्सा शून हो गया जिसको देख उसके परिजन घबरा गए और मरीज सौरभ पांडे को तत्काल झांसी मेडिकल ले गए जहां पर मरीज की कुछ जांचे हुई इन जांचों में सौरभ को ब्लैक फंगस का शिकार बताया गया जिसके बाद तत्काल इलाज जारी हुआ लेकिन झांसी मेडिकल में उसको आराम नहीं हुआ जिसके चलते परिजनों ने मरीज को ग्वालियर ले जाना उचित समझा ग्वालियर ले जाते समय ही रास्ते में सौरभ पांडे ने अपना दम तोड़ दिया l  
 
ऐसा ही मामला छतरपुर जिले में भी देखा गया था
छतरपुर शहर के बकायन खिड़की मोहल्ला निवासी राहुल खरे उम्र लगभग 35 साल की 17 अप्रैल को कोरोना रिपाेर्ट पॉजिटिव आई l इसके बाद उन्हाेंने काेराेना का इलाज लिया और 25 अप्रैल को स्वस्थ होने पर उन्हें जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड से डिस्चार्ज कर दिया गया था।
वह कुछ दिन तक ठीक रहे बाद में उनकी आंख में तकलीफ बढने लगी। जब परेशानी अधिक बढ़ गई ताे वह 7 मई को पारुल हास्पिटल भोपाल में इलाज कराने पहुंचे। जँहा उनकाे भर्ती करने के बाद उनकी जांचे की गईं, जिसमें उनकाे ब्लैक फंगस की पुष्टि हुई। गुरुवार को राहुल खरे की भोपाल में उपचार के दाैरान मौत हो गई। राहुल खरे के पिताजी लखन लाल खरे की भी कोरोना से मौत हो गई थी।

तेजी से बढ़ रहे ब्लैक फंगस के मरीजः
काेराेना संक्रमण के बाद अब प्रदेश में ब्लैक फंगस के मरीज भी तेजी से बढ़ने लगे हैं। काेराेना से जंग जीतने वाले मरीज इस बीमारी की चपेट में आ रहे हैं। गाैरतलब है कि कुछ दिन पहले ब्लैक फंगस से ग्वालियर में भी एक पुलिसकर्मी की माैत हाे चुकी है। साथ ही बीते राेज दाे महिला मरीजाें में भी ब्लैक फंगस की पुष्टि हुई है। बढ़ते मामलाें काे देखते हुए प्रदेश सरकार ने भी ब्लैक फंगस काे लेकर हाई अलर्ट जारी किया है।
जिले में कोरोना के बाद अब ब्लैक फंगस का प्रकोप बढ़ने लगा है। ब्लैक फंगस से शहर के एक युवक की माैत हाे गई है। इसके बाद प्रशासन एवं स्वास्थ महकमा अलर्ट माेड पर आ गया है। साथ ही सभी सरकारी एवं निजी अस्पतालाें काे हिदायत दी गई है कि ब्लैक फंगस का मरीज मिलने पर तुरंत सूचना दी जाए।

कोई टिप्पणी नहीं