Breaking News

अंतर्राज्यीय चार लुटेरे माल सहित गिरफ्तार

      
 पांच बाईक और एक कार के साथ जेवरात बरामद
पृथ्वीपुरः- पुलिस ने अंतर्राज्यीय लुटेरे गिरोह के चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है और इनके कब्जे से पांच बाइकें एवं एक कार के साथ लूट के जेवरात भी बरामद किये है। अंतर्राज्यीय गिरोह के बारदात का खुलाशा किया है।
पुलिस अनुविभागीय कार्यालय में जिले के पुलिस अधीक्षक आलोक कुमार सिंह ने अंतर्राज्यीय चोर गिरोह के द्वारा की गई लूट की बारदातों का खुलाशा करते हुये उन्होने बताया कि 7 मई को रात्री करीब 8 बजे सियाखास ग्राम के निवासी बालकिशन यादव अस्तारी गांव से अपनी पत्नि सहित आ रहे थे तभी गोपालपुरा तिगैला मंजूरे यादव के कुयें के पास सडक किनारे पांच लोगों ने रोककर डण्डों से सिर मे बार किया और दो लडके आकर गाडी की चाबी छीन ली और पैसे की मांग करने लगे सुबूत मिटाने के लिये बाईक की तोड फोड भी करदी साथ ही किसी यह सूचना न दे पायें इसलिये दम्पत्ति का मोबाईल भी तोड दिया महिला ने डर के मारे अपने आभूषण भी इन लुटोरों को दे दिये लूट की घटना को अंजाम देकर यह लुटेरे वहां से भाग निकले और बालकिशन ने अपनी पत्नि के साथ थाने में मामला दर्ज कराया अगली सुबह पता चला की उत्तरप्रदेश के कटेरा गांव में रात को 10 बजे चार लडकों ने कट्टा अडाकर एक मोटर साईकिल सवार से पैसों की लूट की। उसके बाद 8 मई की रात्री चन्देरा थाना जिला टीकमगढ़ में अपाची बाईक और कुछ जेवरात की लूट की बारदात एवं कट्टे से फायर किया जिसमें फरियादी को गंभीर रूप से घायल हुआ। इस प्रकार से यह अन्तर्राज्यीय गिरोह दो राज्यों के तीन जिलों में अलग अलग थानों में 24 घण्टों के अंतर में तीन लूट की थी। पुलिस अधीक्षक आलोक कुमार सिंह ने उप पुलिस महानिरीक्षक छतरपुर विवेक राज सिंह के द्वारा पुलिस को एक क्लू दिया जिसमें पुलिस अधीक्षक के द्वारा तीन टीमें अलग अलग गठित की गई। जो डीआईजी, एसपी, के मार्गर्दान में एसडीओपी संतोष पटैल, थाना प्रभारी नरेन्द्र त्रिपाठी के द्वारा मामले के तथ्य जुटाना शुरू किये एएसआई मनोज तिवारी के द्वारा टीम का सघन प्रयास कर जगह जगह दविश दी गई और धीरे धीरे आरोपियों की पकड तक पहुंचने का कार्य शुरू हुआ। घटना स्थल का एसपी के भ्रमण के बाद पुलिस ने लुटेरों का एलवम चैक किया साइवर संदेही मिथुन रजक की सीडीआर निकलवाई और एसडीओपी संतोष पटैल के नेतृत्व में टीम गठित कर तीन दिवस में खुलाशा करने का लक्ष्य दिया। जिसमें थाना प्रभारी नरेन्द्र त्रिपाठी, और निवाडी थाना प्रभारी नरेन्द्र परिहार के कौशल एवं साइवर शाखा की मदद से तीनों लूटों का तीन दिन में खुलाशा कर दिया गया। एएसआई मनोज तिवारी के द्वारा निरंतर इन लुटोंरों की तलाश करने के लिये जगह जगह दविश दी गई और पुलिस टीमें भी निरंतर आरोपियों तक पहुंचने के लिये दविश देती रही। एसपी ने बताया कि फिल्मी अंदाज में यह लुटेरे लूट की घटना को अंजाम देते थे। इनमें सोरका ग्राम का निवासी मिथुन पिता नारायण रजक जो इण्डिगो कार से आवागमन एवं ठहरने की सुविधा मुहैया करवाना और लूट का सामान बैचने का कार्य करता था। गर्रोली ग्राम निवासी अनुज पिता रामकुमार यादव गिरोह को संगठित करने एंव शराब पार्टी का इंतजाम करता था। वहीं भाण्डेरी फाटक दतिया ग्राम का निवासी राहुल उर्फ दाऊ पिता मेघसिंह जो अग्नेयशस्त्र कटटा कारतूस का प्रयोग कर दहसत पैदा करता था।  मऊरानीपुर का निवासी करण पुत्र विजय यादव जो आपराधिक मनोबृत्ति एवं पुलिस से बचने का उपाय बताना व पैसे लूटने का कार्य किया करता था। और पांचवां आरोपी रितिक रजक जो वर्तमान में फरार है वह डण्डे का बार कर व्यक्ति को घायल करना तथा मोबाईल व सबूत को नस्ट करने का कार्य करता था उसकी तलाश में पुलिस निरंतर दविश दे रही और शीघ्र ही यह आरोपी गिरफ्तार कर लिया जायेगा। इन आरोपियों को झांसी, उरई, मऊ, से गिरफ्तार किया गया है। इन आरोपियों के कब्जे से एक इण्डिगो कार, पांच बाईकें सहित महिला का मंगलसूत्र, बीजासेन के साथ एक कटटा, सहित दस लाख का माल बरामद किया है। पुलिस टीम में टीआई नरेन्द्र त्रिपाठी, टीआई नरेन्द्र परिहार, डीएस परमार, साइवर प्रभारी जितेन्द्र सोनी, एएसआई मनोज तिवारी, श्यामलाल अहिरवार, हाकिम सिंह यादव,आरक्षक नीरज यादव, अमर वर्मा, साइवर एक्सपर्ट विशाल सोनी, सजेश कुशवाहा, जीतेन्द्र सिह, नरेन्द्र सिंह यादव, सूरज खटीक, अंगद सिंह, रोहित कोटिया, राहुल विशवकर्मा, के. कौल, आदि की मेहनत और लगन से आरोपियों की गिरफ्तारी पर पुलिस अधीक्षक के द्वारा नगद पुरूष्कार देने की घोषणा भी की गई। 

कोई टिप्पणी नहीं