Breaking News

अंधे कत्ल का 24 घण्टे में ही पुलिस ने किया खुलाशा


                  प्रेम प्रसंग का निकला मामला
                  दो पुरूष एक महिला गिरफ्तार
पृथ्वीपुर । पुलिस अनुविभाग पृथ्वीपुर अंतर्गत आने बाले ग्राम पंचायत सिमरा थाना के बेर खिरक पर हुये अंधे कत्ल का पुलिस ने 24 घण्टे में ही खुलाशा कर दिया और तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायालय पेश किया गया। 
अनुविभागीय पुलिस कार्यालय में अंधे कत्ल का खुलाशा करते हुये जिले के पुलिस अधीक्षक आलोक कुमार सिंह ने बताया कि सिमरा थाने के बेर खिरक पर संतोष कुशवाहा का शव संदिग्ध अवस्था में घनयाम चौरसिया के खेत पर पडा हुआ है सुबह जैसे ही 7 बजे पुलिस को सूचना मिली मौके पर पुलिस वहां पहुंचा और तीन सदस्यीय एफएसएल टीम ने पहुंचकर बारीकी से साक्ष्य जुटाये। और एसपी श्री सिंह ने बतया कि पूरे मामले को गंभीरता से लेते हुये अंधे कत्ल का खुलाशा करने के लिये एसडीओपी संतोष पटैल, थाना प्रभारी सिमरा शाहिद खान एवं थाना प्रभारी जेरोन सुरेन्द्र सिंह के नेतृत्व में तीन टीमें गठित की गई जिनके द्वारा निरंतर मेहनत कर अंधे कत्ल का खुलाशा करने के लिये निर्देशित किया। उनके द्वारा मामले में पाया गया कि बेर खिरक निवासी मृतक संतोष कुशवाहा का ग्राम के सीताराम कुशवाहा की पत्नि सरोज कुशवाहा के पास आना जाना था और इसी आधार पर सीताराम कुशवाहा और उसका दोस्त महेन्द्र उर्फ मास्टर कुशवाहा पर संदेह हुआ जिनको कब्जे में लेकर पूंछतांछ की गई जिसमें इन्होने सरोज के माध्यम से उसे रात्री 9 बजे घर से इंर्ट भटटे पर आने के लिये कहा और उसे जमकर शराब पिलाई इसके बाद पुलिस ने सरोज के मोबाईल से उसके नम्बर की जांच की तो सरोज के द्वारा उसे बुलाया गया था। तीनों आरोपियों ने मिलकर उसका गला दबाकर उसकी हत्या करने की बात कुबूली है। पुलिस ने इस मामले को 24 घण्टे में ही खुलाशा कर दिया। उक्त पूरे मामले में पर्दाफाश करने में पुलिस अधीक्षक आलोक कुमार सिंह के कुशल मार्गदर्शन तथा एसडीओपी संतोष पटैल के नेतृत्व और थाना प्रभारी जेरोन सुरेन्द्र सिंह, थाना प्रभारी सिमरा शाहिद खान, एवं संतोष तिवारी आरक्षक सुनील दौहरे, हर्ष यादव, जिन्तेन्द्र सेंगर, मनीष पटैल, प्रमोद कुशवाहा, मीना राजा बुन्देला, कुमार सानू आदि टीम में शामिल रहे। 

कोई टिप्पणी नहीं