Breaking News

20 वर्ष पुरानी खस्ताहाल एंबुलेंस से कैसे जीतेंगे कोरोना की जंग

नयी एंबुलेंस उपलब्ध कराए जाने विधायक एवं सांसद को लिखा पत्र 
पलेरा | सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पलेरा में करीब 20 वर्ष पुरानी एंबुलेंस कार्य कर रही है जो कि दयनीय खस्ताहाल स्थिति में पहुंच चुकी है , गौरतलब है कि परिवहन विभाग द्वारा भी नए वाहनों को केवल 15 वर्ष तक के लिए फिट माना जाता है जबकि पलेरा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में लगी हुयी एंबुलेंस 20 वर्ष पुरानी हो चुकी है जो कि कभी भी कहीं पर भी मरीजों को लाने ले जाते समय खराब हो जाती है, वर्तमान में कोरोनावायरस संकट के समय मरीजों को लाने ले जाने हेतु एंबुलेंस की अत्यधिक आवश्यकता रहती है ऐसे में यदि एंबुलेंस कहीं खराब होती है तो भारी परेशानियों का सामना मरीजों को करना पड़ेगा जिससे स्वास्थ्य सुविधाओं पर बुरा असर पड़ेगा | आखिरकार कोरोना के संकट के समय में जहां पर स्वास्थ्य विभाग दिन रात एक कर कोरोना से जंग लड़ रहा है ऐसे में इस संकट की घड़ी में यह पुरानी खस्ताहाल एंबुलेंस कहां तक सहायक होगी जहां मरीजों को रिफर करने हेतु एंबुलेंस को लाने ले जाते समय करीब डेढ़ सौ किलोमीटर का सफर जिला चिकित्सालय के लिए तय करना पड़ता है |एंबुलेंस की इस दुर्दशा को लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में पदस्थ बीएमओ डॉ महेंद्र कोरी द्वारा पत्र लिखकर क्षेत्रीय सांसद डॉ वीरेंद्र कुमार एवं क्षेत्रीय विधायक राहुल सिंह लोधी को एंबुलेंस की दुर्दशा से अवगत कराया है एवं नए एंबुलेंस की व्यवस्था किए जाने की मांग की है |

कोई टिप्पणी नहीं