Breaking News

पूर्व विधायक चंदा सुरेंद्र सिंह गौर ने मां हिंगलाज घूरा में किसान आंदोलन के समर्थन में भरी हुंकार

पलेरा ब्लॉक के जनपद पंचायत घूरा में मां हिंगलाज माता के प्रांगण में पूर्व विधायक चंदा सुरेंद्र सिंह गौर ने किसानों के समर्थन में भरी हुंकार।
(मनीष यादव) टीकमगढ़। पलेरा:- खरगापुर 47 से कांग्रेस पार्टी की पूर्व विधायक चंदा सुरेंद्र सिंह गौर ने आज पलेरा से 15 किलोमीटर की दूरी पर स्थित माता हिंगलाज मां के प्रांगण में किसानों की विशाल रैली को संबोधित किया तथा दिल्ली में हो रहे किसान आंदोलन को अपना समर्थन दिया और कहा कि केंद्र की भारतीय जनता पार्टी को किसानों के ऊपर थोपे जा रहे यह तीन काले कृषि कानूनों को तत्काल वापस लेकर किसानों के प्रति संवेदना व्यक्त करनी चाहिए क्योंकि भारत की लगभग 70% आबादी कृषि पर आश्रित है और किसानों की प्रमुख मांग है कि केंद्र सरकार द्वारा बनाए गए कानूनों को रद्द किया जाए क्योंकि इन तीन नए कृषि कानूनों से किसानों को आने वाले समय में लाभ नहीं बल्कि हानि ही होगी इसलिए केंद्र सरकार को बिना विलंब किए शीघ्र ही तीनों कृषि कानूनों को रद्द कर देना चाहिए जो किसानों के हित में है

साथ ही साथ पूर्व विधायक चंदा सुरेंद्र सिंह गौर ने कहा कि यह जो किसान आंदोलन इस समय संपूर्ण देश में चल रहा है यह इतिहास का सबसे बड़ा आंदोलन है और वर्तमान में सत्ता में काबिज भारतीय जनता पार्टी के नुमाइंदों और देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ऊपर इन किसानों के प्रदर्शन का कोई असर देखने को नहीं मिल रहा है आंदोलन में अब तक 70 से ज्यादा किसानों ने अपनी कुर्बानी दे दी है लेकिन केंद्र सरकार के द्वारा उनकी मांगों को नहीं माना जा रहा है जो इस भारतीय इतिहास में स्वर्ण अक्षरों से लिखा जाएगा कि ऐसा भी तानाशाही शासन प्रशासन था जो किसानों की बात ना मानकर मात्र उद्योगपतियों के लिए ही कार्य कर रही थी

इसके अलावा पूर्व विधायिका ने कांग्रेस पार्टी के दिशा निर्देश अनुसार कांग्रेस पार्टी के नीति रीति से अवगत कराया और कहां कि देश को सिर्फ कांग्रेस पार्टी ही नए आयाम और नए मुकाम तक पहुंचा सकती है जो सबको साथ लेकर चलने वाली पार्टी है और लगभग 70 बरस तक इस देश पर राज किया है और नए नए कीर्तिमान स्थापित किए हैं लेकिन वर्तमान की भारतीय जनता पार्टी ने मात्र 10-15 साल के अपने कार्यकाल में ही ना जाने कितनी कंपनियों को बेच दिया है चाहे वह रेल हो विमान हो पेट्रोलियम हो एक-एक करके देश की संपत्तियों को बेचा जा रहा है

संवैधानिक संस्थाओं को नष्ट किया जा रहा है उन्होंने केंद्र सरकार और राज्य सरकार को किसानों को और आम जनमानस बा देश के विकास के लिए घातक करार दिया है 
इसके अलावा मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार को कोसते हुए उन्होंने कहा है कि यह सरकार पैसो की दम पर बनी हुई सरकार है जो सिर्फ खनन माफियाओं को संरक्षण देती है यह सरकार सिर्फ पैसे कमाने वाली सरकार है जो छल कपट से बनी हुई सरकार है जिसने डेढ़ साल की कमलनाथ सरकार को गिरा कर सरकार बनाई है जो भारतीय इतिहास में स्वर्ण अक्षरों में लिखा जाने वाला महापाप है

उन्होंने कहा जब जब देश पर संकट आया है या सरकारों ने अपने तानाशाही रवैया से जनमानस को परेशान किया है तब तक कांग्रेस पार्टी ने इंकलाब का नारा बुलंद करके आगे आने का काम किया है और किया जाएगा

इस किसान आंदोलन में पूर्व विधायिका चंदा सुरेंद्र सिंह गौर
जनपद पंचायत अध्यक्ष मंजू रविंद्र सिंह गौर ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राजू राजकुमार राय विधानसभा अध्यक्ष मोहन अहिरवार मनमोहन चढ़ार जगन्नाथ अहिरवार इमरान खान रुस्तम खान मलखान यादव विजय वर्मा नरेश तिवारी रम्मी महाराज मोहनलाल चढ़ार नाथूराम अहिरवार सहित अनेक कांग्रेस कार्यकर्ता विशाल जनमानस व किसान उपस्थित रहे

कोई टिप्पणी नहीं