Breaking News

शौचालय बनवाने के लिए आए पैसे सरपंच के साथ मिल सचिव और रोजगार सहायक ने अन्य व्यक्ति के खाते में राशि डलवाकर राशि का आहरण कर लिया

टीकमगढ़l भारत देश में केंद्र सरकार जहां स्वच्छ भारत मिशन पर अरबों रुपए खर्च कर रही है, वहीं दूसरी ओर भ्रष्टाचार की गन्दगी पूरे देश में थमने का नाम नहीं ले रही है। यहां तक कि भ्रष्टाचार की सीमा यहां तक बढ़ गई कि भ्रष्टाचारियों को भ्रष्टा करने वाली जगह में भी भ्रष्टाचार करने में शर्म नहीं आती। 
बता दे की यह मामला है मध्य प्रदेश के जिला टीकमगढ़ की ग्राम पंचायत प्रेमनगर का।
जहां सरपंच, और सचिव की आपसी मिली भगत से पंचायत में निवास करने वाले घनश्याम खंगार तनय कामता खंगार के निजी शौंचलाय का पैसा किसी अन्य के खाते में डलवा कर राशि का आहरण कर लिया गया। 

आवेदक ने जिला कलेक्टर के सामने आवेदन प्रस्तुत कर बताया कि उसने, 2016 में सरकारी नियमों के बिधिवत अपने निजी शौंचालय बनवाने के लिए आवेदन किया था जो स्वीकृत हो गया था, परन्तु सरपंच, सचिव और रोजगार सहायक के द्वारा 05/06/2016 को ही किसी अन्य व्यक्ति के खाते में राशि डलवाकर राशि का आहरण कर लिया गया था। 
आवेदक ने आज दिनांक 02/02/2021 - को जिला कलेक्टर के सामने आवेदन प्रस्तुत कर मामले की जांच कर दोषियों के खिलाफ कठोर कानूनी कार्यवाही की जाने की मांग को है।

कोई टिप्पणी नहीं