Breaking News

धोखाधड़ी के मामले में 4 माह से फरार आरोपी सुरेश यादव को उ.प्र. से लिधौरा पुलिस ने दवोचा

                न्याय की गुहार लगाता आवेदन 

टीकमगढ़। ग्राम पंचमपुरा थाना मोहनगढ़ के निवासी श्यामपाल सिंह परमार ने 17 नवंबर को टीकमगढ़ जिले के मोहनगढ़ थाने में एफआईआर दर्ज करवाई थी कि सुरेश कुमार यादव तनय सटू लाल यादव थाना बरूआ सागर जिला झाँसी से मेरे मित्रवत संबंध तीन–चार साल पहले हो गये थे। सुरेश कुमार यादव का टीकमगढ़–झाँसी के मध्य बसों का संचालन होता है। मेरी बैंक सिविल शाख सही नहीं होने के कारण मुझे हाईवा फाइनेन्स नहीं हो रहे थे। इस संबंध में सुरेश कुमार यादव से मेरी बात हुई सुरेश कुमार यादव बोले कि मेरी बैंक सिविल शाख बहुत अच्छी है। तुम मेरे नाम से हाईवा फाइनेन्स करा लो और जिस दिन तुम्हारी गाड़ी की किस्तें चुकता हो जायेंगी। उसी दिन गाड़िया तुम्हारे नाम ट्रान्सफर कर दूगा। मैंने मार्जिन मनी के रूप में 16 नवंबर 2018 को लगभग 13 लाख रूपया बैंक एवं नगदी दिये । जमा करने के बाद 04 दिसम्बर 2018 को मुझे गाड़ी प्राप्त हुई। इसी हिसाब से में लगतार किश्तें जमा करता रहा एवं बीमा, टैक्स, टायर, आर.टी.ओ., वाणिज्य कर जो सरकारी खर्चे हुए सभी मेरे द्वारा लगभग 57 लाख रूपये गहन किये गये। इसी बीच मार्च 2020 में लॉकडाउन की वजह से कुछ किश्तें लेट हो गई। इसी बीच सुरेश कुमार यादव किश्तों के लिए–कहने लगे तो मैंने कहा जितना भी गाड़ियों की शेष राशि है हम जमा करने को तैयार है। सुरेश कुमार यादव ने हमारे ड्राईवरों से 16 जून 2018 को खिरियानाका के पास से हाईवा वाहन छीनकर ले गये। इसी बीच हमारे नाम से 1 अगस्त 2019 में सुरेश कुमार यादव द्वारा फर्जी स्टाम्प लेख किया गया है। उसी स्टाम्प को दोबारा लेख कर खुर्द–बुर्द किया गया है। जिसकी शिकायत टीकमगढ़ पुलिस अधीक्षक से की गई थी। जिसके बाद पुलिस अधीक्षक के निर्देशन में लिधौरा थाना प्रभारी हिमांशु भिंडिया ने एक टीम गठित की गई और 4 माह से फरार घुम रहे सुरेश यादव को उ.प्र. से गिरफ्तार कर टीकमगढ़ लगा गया। वही अभी तक फरियादी की दर्ज रिपोर्ट में जो हाइवा क्र. यूपी93टीबी7988, यूपी93टीबी7989 का उल्लेख है वह आरोपी ने किसी अन्य जगह भेज दिये है। जिसकी तलाश अभी तक पुलिस को है।

कोई टिप्पणी नहीं