Breaking News

धनगर जाति के प्रमाण पत्र जारी किए जाने की मांग।


ललितपुर। राष्ट्रीय धनगर महासभा उत्तर प्रदेश के तत्वाधान में मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन जिलाधिकारी को दिया गया। जिलाधिकारी को अवगत कराया गया कि धनगर अनुसूचित जाति के जाति प्रमाण पत्र प्राप्त करने हेतु किए जा रहे आवेदनों को तहसीलदारो द्वारा प्रदत्त व्यवस्था के विपरीत एकल अधिकारी द्वारा अपने क्षेत्राधिकार के बाहर जाकर निरस्त कर दिया जाता है। बताया कि धनगर जाति गड़रिया जाति की उपजाति है तथा धनगर अनुसूचित जाति की सूची में अधिसूचित है। इस प्रकार धनगर जाति के प्रमाण पत्र बनाए जाने हेतु किए गए आवेदनों के सत्यापन में मुख्य रूप से जांच करते समय जाति- उपजाति (मूलवंश) की जांच कर जाती -उपजाति (मूलवंश) जनजातीय समुदाय या जनजातीय समुदाय के वर्ग का या भाग का उल्लेख होना चाहिए जब आवेदक द्वारा अपने आप को धनगर जाति(गडरिया की उपजाति) का बताया गया है। फिर भी प्राय: क्षेत्रीय लेखपाल द्वारा मूल जाति गडरिया अंकित आवेदन निरस्त कर दिया जाता है। यदि शासन द्वारा 15 दिन के अंदर धनगर अनुसूचित जाति के प्रमाण पत्र नहीं बनाए गए तो राष्ट्रीय धनगर महासभा के तत्वाधान में 20 जनवरी से गांधीवादी तरीके से अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन करेगी अगर कोई घटना घटित होती है तो उसकी जिम्मेदारी प्रशासन की होगी। इस दौरान जिलाध्यक्ष हाकम पाल धनगर, डा.चन्दन पाल, मीडिया प्रभारी रामेश्वर पाल, रामचरण पाल, बृजेश पाल, कृपाल सिंह, नीरज पाल, राजआर्यन पाल, विशाल पाल, विनोद पाल, हल्के पाल, मुन्ना पाल, विजय पाल आदि समाज लोग उपस्थित रहे हैं।

कोई टिप्पणी नहीं