Breaking News

किसान बिल के विरोध में, प्रभारी तहसीलदार को सौंपा ज्ञापन।

टीकमगढ़ । मोहनगढ़ तहसील के अंतर्गत आने वाले समस्त ग्रामो के  किसान एवं आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता एवं पदाधिकारियों ने किसानों के साथ  एक बैठक का आयोजन किया आम आदमी पार्टी के जिला अध्यक्ष  अशीष खरे  ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा की हाल ही में केंद्र सरकार ने  किसान विरोधी तीन काले कानून को पास किया है ,इसको लेकर हमारे किसान दिल्ली में धरना दे रहे, धरना के  दौरान  40 से 42 किसानों की मृत्यु हो चुकी है। उन किसानों को एक करोड़  रुपए  की  मुआवजा  राशि   एवं परिवार में एक सरकारी नौकरी दी जाए । पार्टी के जिला उपाध्यक्ष हरिश्चंद्र राजा भैया द्वारा बताया गया कि मोहनगढ़ क्षेत्र में बिजली को लेकर किसान बहुत परेशान है मोहनगढ़ ओ आर सी द्वारा उन्हें बिल थमा दिए जाते हैं लेकिन उनकी विद्युत मोटर तक लाइट नहीं पहुँच रही है इस तरह किसानों को बिजली विभाग द्वारा परेशान किया जा रहा है आम आदमी पार्टी के किसान प्रकोष्ठ के जिला उपाध्यक्ष करतार सिंह यादव द्वारा बताया गया कि हमारे क्षेत्र में किसानों को अगर उनको सही समय पर सरकारी योजनाओं का लाभ नहीं दिया जाएगा एवं बिजली विभाग जैसी समस्याओं का समाधान नहीं किया जाएगा तो हम लोग आगे आंदोलन के लिए मजबूर हो जाएंगे   पार्टी के कार्यकर्ताओं ने  महामहिम राष्ट्रपति महोदय  के नाम  ज्ञापन सौंपते हुए  उसमें उल्लेख किया है कि  मोहनगढ़ क्षेत्र की बालिकाओं को  कक्षा 10 -12 की परीक्षा के लिए  समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इसलिए  उन्होंने  शासकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय  खोलने की  मांग भी की है । तथा ग्राम पंचायत में सरपंच एवं सचिवों द्वार गरीब असहाय लोगों को प्रधानमंत्री आवास वृद्धा पेंशन से वंचित रखा जाता है एवं पैसे वालों के कार्य किए जाते हैं क्योंकि गरीबों के पास रिश्वत  देने के लिए पैसा नहीं है इसलिए वह लोग सरकारी योजनाओं से वंचित रह जाते हैं। बीजेपी सरकार में गरीब लोगों के लिए योजनाएं सिर्फ कागजों में चल रही हैं ,सही लाभ अपात्र एवं बड़े लोगों को मिल रहा है आम आदमी पार्टी के जिला अध्यक्ष आशीष खरे द्वारा बताया गया की सरकार होश में आए और गरीबों के हित में कार्य करें एवं प्रदेश में बेरोजगार लोगों के लिए रोजगार के अवसर दिए जाएं एवं उन्हें रोजगार नही मिल रहा है तो बेरोजगारी भत्ता दीया जाए उन्होंने किसानों को जागरूक किया एवं इस बिल के बदलाव में किसान आंदोलन का समर्थन करते हुए  पार्टी पदाधिकारियों के साथ एवं किसानों के साथ क्षेत्र की समस्याओं को सुना  ।

कोई टिप्पणी नहीं