Breaking News

जिलाधिकारी को प्रार्थना देकर गार्गी शिक्षिकाओं ने मानदेय दिलाए जाने की उठाई मांग।


अन्यथा की स्थिति में  घण्टाघर पर अनशन व धरना प्रदर्शन करने की मांगी अनुमति
ललितपुर। गरीब परिवारों के बच्चों को सुसंस्कारवान शिक्षा मुहैया कराने के लिए पूर्व जिलाधिकारी द्वारा गार्गी शिक्षिकाओं को विद्यालय में शिक्षण कार्य के लिए तैनात किया था, लेकिन तैनाती के बाद से गार्गी शिक्षिकाओं को मानदेय नहीं दिया गया। जिससे अब गार्गी शिक्षिकाओं के समक्ष गहरा संकट खड़ा हो गया है। मानदेय दिलाये जाने की मांग उठाते हुये अन्यथा की स्थिति में गार्गी शिक्षिकाओं ने 18 दिसम्बर को घण्टाघर पर अनशन व धरना प्रदर्शन करने की अनुमति मांगी है। गार्गी शिक्षिकाओं ने डीएम को भेजे ज्ञापन में बताया कि तत्कालीन जिलाधिकारी ने एक कमेटी का गठन कर बेहतर शिक्षा बच्चों को मुहैया कराने के उद्देश्य से गार्गी शिक्षिकाओं की तैनाती की थी, लेकिन तब से लेकर अब तक गार्गी शिक्षिकाओं को मानदेय नहीं दिया गया है। उन्होंने बताया कि मेहनत और लगन से वह बच्चों को शिक्षा मुहैया कराने में जुटी रहीं। लेकिन उनको मानदेय दिये जाने को लेकर कोई बात नहीं करता। कई बार प्रशासन को ज्ञापन दिये जाने के बावजूद भी कार्यवाही नहीं की जा रही है। ऐसी दशा में गार्गी शिक्षिकाओं ने 18 दिसम्बर को घण्टाघर मैदान पर धरना प्रदर्शन व अनशन करने की अनुमति दिये जाने की मांग उठायी है। ज्ञापन देते समय गायत्री सेन व आराधना रजक मौजूद रहीं।

कोई टिप्पणी नहीं