Breaking News

प्रोजेक्ट नई किरण ने कराया दो विछडे परिवारों का पुनर्मिलन।

प्रोजेक्ट नई किरण के सदस्यों ने गुलदस्ता  भेंट कर किया पुलिस अधीक्षक का स्वागत।

रविवार को पुलिस लाइन ललितपुर के सभागार कक्ष में पुलिस अधीक्षक प्रमोद कुमार की अध्यक्षता में प्रोजेक्ट नई किरण कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमें विछडे दो परिवारों का फिर से पुनर्मिलन कराया गया ।
रविवार को आयोजित नई किरण कार्यक्रम में उपस्थित सदस्यों द्वारा जिले के  पुलिस अधीक्षक का स्वागत किया गया। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक, ललितपुर श्री प्रमोद कुमार ने कहा कि नई किरण प्रोजेक्ट से जनपद में बिखरे हुए परिवारो को जोडकर उनके दाम्पत्य जीवन में एक नई रोशनी आयेगी। नई किरण प्रोजेक्ट के अन्तर्गत बिखरे परिवार को एक सूत्र में बांधने का प्रयास है । प्रोजेक्ट नई किरण द्वारा जनपद में पुलिस की मित्र छवि उभर कर सामने आयी हैं।  पुलिस का यह सामाजिक कार्य  निरंतर जारी  रहेगा  और जनपद के सभी पारिवारिक मामलों को प्रोजेक्ट नई किरण के माध्यम से निस्तारित कराने का प्रयास किया जाएगा।
इस अवसर पर प्रोजेक्ट नई किरण के सदस्यों ने स्वागत समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि प्रोजेक्ट नई किरण की शुरुआत 9 दिसंबर 2018 को की गई थी, जिसके द्वारा जनपद के पारिवारिक मामलों का बिना किसी खर्च के सुगमता से त्वरित निस्तारण किया गया। अभी तक लगभग 400 से अधिक पारिवारिक मामलों का सफलतापूर्वक निस्तारण किया गया है। इससे, पहले से अतिरिक्त भार झेल रहे रहे माननीय न्यायालय पर अतिरिक्त बोझ थी नहीं पड़ा है।
 स्वागत समारोह के बाद पुलिस अधीक्षक ललितपुर  प्रमोद कुमार के नेतृत्व  में नई किरण"का आयोजन किया गया। कोरोना काल में प्रोजेक्ट नई किरण में सीमित 03 परिवारों को बुलाया गया। नई किरण मे 02 मामले में दोनों पक्ष आये जिनमें नई किरण के सभी सदस्यों द्वारा समझानें के बाद  02 परिवारों में आपसी सुलह समझौते के आधार पर समझौता कराया गया। 02 परिवार खुशी – खुशी  साथ –साथ  रहने को तैयार हो गये व 01 मामलों में अग्रिम तिथि दी गई। इस अवसर पर अपर पुलिस अधीक्षक डॉ0 बृजेश कुमार सिंह  एवं प्रोजेक्ट नई किरण के  सदस्य डॉ दीपक चौबे, श्री अजय बरया,डॉ0 संजीव कुमार शर्मा, मनोवैज्ञानिक, श्रीमती सुधा कुशवाहा ,पुलिस अधीक्षक कार्यालय से महिला कांस्टेबल अर्चना राजपूत ,म0का0 दिव्या विश्वकर्मा* आदि का विशेष सहयोग रहा ।

कोई टिप्पणी नहीं