Breaking News

गरीब परिवाराे को नहीं मिला प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ, गरीब हो रहा परेशान

गरीब परिवाराे को नहीं मिला प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ 

आज भी अपने घर का इंतजार पीएम आवास का नहीं मिला लाभ झोपड़ी में रहने को मजबूर है ग्रामीण गरीब परिवार पात्र होने के बावजूद भी पात्रता सूची में नहीं है परिवारों के नाम




(रिपोर्टर अमित श्रीवास्तव) 

साढूमल । में एक तरफ केन्द्र व प्रदेश सरकार हर गरीब परिवार को पक्का घर देने का दावा हर मंच से करती है, लेकिन सरकार द्वारा चलाई जा रही योजना में पंचायत विभाग की लापरवाही के चलते आज भी पात्रता होने के बावजूद भी कई गांव ऐसे हैं, जहां आज भी उक्त योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है। ऐसा ही एक मामला ग्राम पंचायत साढूमल का सामने आया है जिसमें कई परिवार निवास करते हैं


जिसमें सें कई परिवार ऐसे हैं जो कि प्रधानमंत्री आवास योजना में पात्रता तो रखते हैं लेकिन योजना का लाभ नहीं मिल रहा हैं जो कि प्रधानमंत्री आवास योजना में प्रथम प्राथमिकता रखते हैं लेकिन विभाग की लापरवाही के चलते सूची में इनमें से एक भी परिवारों के नाम नहीं होने से वर्तमान में ग्राम पंचायत में एक भी पात्र परिवार को उक्त योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है पक्के आवास की आस में दर-दर भटक रहे हैं लेकिन कोई सुनने वाला नही हैं 

विभाग की लापरवाही का खामियाजा आज पात्र गरीब परिवारों को भुगतना पड़ रहा है जोकि आज महत्वपूर्ण योजना संचालित होने के बावजूद भी कच्ची झोपडिय़ों में रहने को मजबूर है।

पात्र परिवार के लोग वरिष्ठ अधिकारियों के कार्यालय के चक्कर लगा लगाकर थक चुके हैं लेकिन आज तक उनके नाम पात्रता सूची में नहीं जुड़ पाए हैं

जिम्मेदार अधिकारी भी सर्वे सूची का बहाना लेकर जिम्मेदारियों से बचते नजर आते हैं जब भी इस संबंध में जिम्मेदारों से चर्चा की जाती है तो सर्वे सूची का हवाला देकर अपना पल्ला झाड़ देते हैं, लेकिन आज तक जिम्मेदार अधिकारियों द्वारा इस ओर किसी भी प्रकार का सुधार करने का प्रयास नहीं किया गया

गॉव में आभी भी बड़ी संख्या में गरीब परिवाराे के लोग प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ पाने से वंचित हैं अपने पुराने कच्चे मकान में रहने को मजबूर आवासाे का लाभ पाने के लिए अधिकारियों के कार्यालय के चक्कर काटते-काटते थक चुके हैंं
 
ग्राम निवासी तुलसी पुत्र लटकन कुशवाहा व निर्मल पुत्र जलाम बुनकर व तिलक पुत्र भगतसिंह लोधी निवासी गण साढूमल पुराने कच्चे मकान में परिवार के साथ गुजारा कर रहे हैं झुग्गी झोपड़ी में रहकर अपने परिवार पत्नी बच्चों के साथ जीवन व्यतीत कर रहे हैं।

कोई टिप्पणी नहीं