Breaking News

सुशासन एवं किसान सम्मान दिवस के रुप में मनायी गई भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई की जयंती ।

 


नाराहट स्थित सहकारी समिति में मनाया गया किसान सम्मान दिवस हजारों किसानों ने सुना प्रधानमंत्री का सजीव उद्धबोधन ।

अटलजी के जन्म दिवस पर प्रधानमंत्री ने 9करोड किसानों के खाते में भेजे 18000 करोड की राशि।
 
ललितपुर नाराहट स्थित सहकारी समिति प्रांगण में भाजपा जिला महामंत्री भू प्रताप सिंह बुंदेला डोंगरा की अध्यक्षता में देश के पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न स्व श्री अटल बिहारी बाजपेई का जन्म दिवस सुशासन दिवस के रूप में मनाया गया इस अवसर पर किसान सम्मान दिवस का आयोजन किया गया जिसमें सैकड़ों की संख्या में उपस्थित किसानों को टेलीविजन पर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी का सजीव प्रसारण दिखाया गया।
नाराहट स्थित सहकारी समिति प्रांगण में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई का जन्म दिवस सुशासन दिवस के रूप में मनाया गया साथ ही इस अवसर पर किसान सम्मान दिवस का आयोजन किया गया । कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे भू प्रताप सिंह बुंदेला ने अटल बिहारी जी के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर नमन करते हुए कार्यक्रम का शुभारंभ किया । उन्होंने अटल जी के ब्यक्तित्व पर प्रकाश डालते हुए कहा की भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेई का जन्म 25 दिसंबर 1924को ग्वालियर में हुआ था उनका पूरा जीवन जनहित में समर्पित रहा  उन्होंने अपने कार्यकाल के दौरान अपने दूरदर्शी नेतृत्व का परिचय देते हुए उन्होंने देश को विकास की अभूतपूर्व उंचाइयों पर पहुंचाया. एक सशक्त और समृद्ध भारत के निर्माण के लिए उनके प्रयासों को सदा स्मरण किया जाएगा ।अटल जी द्वारा देश के हित में ऐतिहासिक निर्णय लिए है। जिनमें किसानों के लिए बनाई गई महत्वपूर्ण योजना किसान क्रेडिट कार्ड आज किसानों की सबसे बड़ी हितैषी योजना बनकर उभरी है। जिसने करोड़ों किसानों को साहूकारों के कर्ज से मुक्ति दिलाई है और आज सबसे कम ब्याज पर किसानों को कर्ज उपलब्ध करा रही है। इसके अलावा प्रधानमंत्री द्वारा देश को जोड़ने के लिए लाई गई स्वर्णिम चतुर्भुज सड़क योजना ग्रामीण सड़क योजना ,सर्व शिक्षा अभियान, मोबाइल संचार क्रांति, पोखरण परमाणु परीक्षण,पोटा कानून ,निजी पूंजी निवेश, जैसे महत्वपूर्ण फैसलों ने देश की तस्वीर बदल दी है। देश हित में उनके द्वारा लिए गए निर्णय को हम भारतीय कभी भुला नहीं सकते वह किसानों के सच्चे हितैषी थे उनका सपना किसानों शसक्त एवं समृद्धशाली बनाना था उनके सपनों को साकार करते हुए आज सहकारिता के माध्यम से किसानों की आय को दो गुना करने की योजना पर तेजी के साथ काम किया जा रहा है । इस अवसर पर दर्जनों गांवों से आए किसानों ने देश के प्रधानमंत्री द्वारा कृषि कानून को लेकर फैले भ्रम को दूर करने के लिए देश के किसानों को संबोधित संबोधन का सजीव प्रसारण टैलीविजन पर देखा प्रधानमंत्री के उद्बोधन को सुनकर किसानों ने तालियां बजाकर कृषि कानून का समर्थन किया ।
इस अवसर पर बड़ी संख्या में किसान एवं भाजपा पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता मौजूद रहे। भगवान सिंह निरंजन मंडल अध्यक्ष नाराहट, दीपेंद्र सिंह मंडल महामंत्री नाराहट , हनुमत सिंह मंडल उपाध्यक्ष, चरण कुशवाहा, महेंद्र सिंह, दिलीप सिंह ,दिनेश कुमार दुबे, शिवाजी राजा, बृजेश कुमार तिवारी चरण सिंह राजपूत महेंद्र सिंह बुंदेला वीरेंद्र सिंह बुंदेला जय सिंह राजबहादुर थान सिंह पटेल, सुरेंद्र सिंह, बिहारी लाल, आदि मौजूद रहे।

कोई टिप्पणी नहीं