Breaking News

धर्म नगरी सोंरई की पावन भूमि पर ध्यान भूषण जी महराज की हुई समाधी ।


मुनि महराज जी की समाधि को देखने उमड़ा जनसैलाब ,लगे जयकारे सोंरई नगरी हुई  धन्य ।
अनिल कुमार जैन सौंरई 
मड़ावरा / ललितपुर  विद्वानों एवं धर्म नगरी सोंरई ग्राम में त्रिलोक तीर्थ प्रेरणता आचार्य 108 श्री सन्मति सागर जी महाराज के शिष्य सौंरई नगरी के गौरव क्षुल्लक 105 श्री ध्यान भूषण जी महाराज की समाधि हुई और इस समाधि मैं सोरई बालों के भाग्य जागृत हुये जो अपने ही नगर के गौरव क्षुल्लक 105 श्री ध्यान भूषण जी महाराज का समाधि मरण समाधि स्थली उनके ही नगर में हुआ जिसका आयोजन बड़े श्रृद्धा भाव के साथ सोंरई के  दिगंबर जैन समाज ने मनाया  जिसमें मडावरा ,बम्हौरी  सैदपुर, साढूमल, राजोला ,सागर, पटना ,नैनागिर, टीकमगढ़, दमोह, बड़ागांव ,बंडा गाँव,आसपास के क्षेत्र से जैन समाज के लोगों ने सम्लित रहे थे यह समाधि मरण स्थल सोंरई  विशुद्ध प्रांगण मैं मनाया गया जिसमें सभी धर्म प्रेमी बंधुओं ने भारी संख्या में सम्मिलित होकर धर्म लाभ लिया और धर्म की प्रभावना को समझा पंडित श्री जय कुमार निशांत जी ने मुनि श्री का पूर्ण विधि-विधान से समाधि मरण कार्यक्रम संपन्न करवाया और पंडित श्री देवेंद्र कोठिया पंडित श्री आकाश जैन और पंडित श्री संतोष कुमार जी भी इस कार्यक्रम में सम्मिलित रहे।  

कोई टिप्पणी नहीं