Breaking News

जंगल के मध्य स्थित पापड़ा गांव में बाल गुरुकुल का हुआ शुभारंभ


झाँसी कैथोलिक सेवा समाज संस्था की मुहिम रंग लाई
अब गांव में बच्चों को नशीब हो सकेगी शिक्षा ।

ललितपुर । जनपद ललितपुर जिला मुख्यालय से लगभग 100 किमी की दूरी पर जंगल के मध्य स्थित दूरस्थ ग्राम पापड़ा में झाँसी कैथोलिक सेवा समाज संस्था के प्रयास से बाल गुरुकुल का शुभारंभ बच्चों के सांस्कृतिक कार्यक्रम के बीच हुआ। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि बिशप स्वामी पीटर ने फीता काटकर किया। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि फादर जूलियन, फादर मैथिउ, फादर एलेक्स रहे तथा कार्यक्रम की अध्यक्षता फादर जोसफ अकुला ने की। 

उल्लेखनीय है कि ग्राम पापड़ा जंगल के मध्य स्थित है। गांव में लगभग 50 परिवार है गांव की आबादी सरकारी मानक के अनुरूप पूर्ण न होने के कारण गांव में सरकारी विद्यालय नहीं बन पा रहा था। गांव के लोगों ने कई बार जिला प्रशासन को पत्र देकर सरकारी विद्यालय की मांग की किन्तु मामला जाँच एवं आबादी का मानक पूरा न होने के कारण गांव में सरकारी विद्यालय नहीं उपलब्ध पा रहा था। गाँव में सरकारी विद्यालय न होने के कारण गांव के बालक-बालिका कैसे पढेंगें यह बहुत बड़ा सवाल था। इस गांव में बच्चों के स्कूल जाने का सपना विगत कई वर्षों से सिर्फ़ और सिर्फ सपना बनकर रह गया था। 
बतादें कि ग्राम वनगुवां में कक्षा 1 से 8 तक के बच्चों के लिए सरकारी विद्यालय है किंतु जंगल के मध्य से जाने का रास्ता व दूरी भी अधिक होने के के कारण बच्चे स्कूल नहीं जा पा रहे थे। ग्राम पापड़ा सहित ब्लॉक के विभिन्न गांवों में कार्य कर रही झाँसी कैथोलिक सेवा समाज संस्था ने इस गांव में ग्रामीणों एवं बच्चों से वार्ता कर उनकी जरूरत को समझा और गांव में लोगों की जरूरत की पूर्ति करते हुए बच्चों को पढ़ने के लिए बाल गुरुकुल की स्थापना कर यहाँ के बच्चों को स्कूल जाने का सपना साकार किया। यहां पर बता दें कि गाँव में एक झोपड़ी पर बच्चों के लिए विद्यालय चलता था। बच्चों को गांव के ही शिक्षित युवा बच्चों को पढ़ाते थे। बच्चों को पढ़ाने वाले युवकों को एक लेखपाल साहब द्वारा आर्थिक सहयोग किया जा रहा था। बच्चों को बैठने के लिए भवन नहीं था। अब झाँसी कैथोलिक सेवा समाज संस्था द्वारा बच्चों के पढ़ने के लिए भवन की व्यवस्था कर दी गई है। बच्चे अब बाल गुरुकुल में बैठकर पढेंगें जिन्हें गाँव के युवक पढ़ाएंगे। 

फादर जोसेफ अकुला ने बताया कि ग्राम पापड़ा में बच्चों को कपड़े एवं उनके पढ़ने के लिए किताब, कॉपी की दी गई हैं। इसके साथ ही गांव के 50 लोगों को कम्बल वितरण किये गये हैं। उन्होंने बताया कि बाल गुरुकुल शुभारंभ अवसर पर पूरे गाँव के लोगों को भोजन कराया गया। ग्रामीणों को बच्चों की शिक्षा पर ध्यान देने हेतु प्रेरित किया गया। कार्यक्रम में झाँसी कैथोलिक सेवा समाज संस्था के बिशप स्वामी पीटर, फादर जूलियन, फादर मैथिउ, फादर एलेक्स, फादर जोसफ अकुला, कैलाश नारायण, दयाराम, मइयादीन उपस्थित रहे।

कोई टिप्पणी नहीं