Breaking News

हमारा अस्पताल नम्बर -1 कार्यकम

मुंगावली l हमारा अस्पताल नम्बर वन कैसे हो। इस विषय को लेकर 27 दिसम्बर दिन रविवार को नगर परिषद के सभागार में एस डी एम राहुल गुप्ता के निर्देशन में एक बैठक ली गई थी, जिसमें शासकीय डॉक्टर दिनेश त्रिपाठी, डॉक्टर अमित आर्य, पत्रकार, व्यापारी वर्ग, पंजाबी महिला संगठन आदि के सदस्य उपस्थित रहे। जिसके अंतिम निर्णय अनुसार दूसरे दिन सोमवार 28 दिसम्बर को मुँगावली सिविल हॉस्पिटल में योजना अनुसार हमारा अस्पताल नंबर वन कार्यक्रम का शुभारम्भ किया गया। कार्यक्रम का शुभारम्भ तहसीलदार यू सी मेहरा के नेतृत्व में जनपद अध्यक्ष जगन्नाथ सिंह के द्वारा राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी के चित्र को माल्यार्पण व दीप प्रज्जविलित कर किया गया तथा संस्था प्रभारी की हैसियत से डॉक्टर अमित आर्य के द्वारा कार्यक्रम के विषय एवं उद्देश्यों पर विस्तृत प्रकाश डाला गया।
जहाँ पर स्वास्थ्य विभाग से दिनेश पाठक ने कार्यक्रम की रूपरेखा पाठन कर समझाई।
वस्तुतः इस कार्यक्रम का प्रमुख उद्देश्य अस्पताल में मौजूद कमियों को पूरा करके साफ-सफाई व्यवस्था सहित अन्य आवश्यक सुविधाओं को पूरा करना है। जिससे अस्पताल में किसी भी मरीज या बीमार व्यक्ति को किसी भी प्रकार की असुविधा रूपी परेशानी का सामना ना करना पड़े।

सोमवार को हुए इस कार्यक्रम में प्रमुख रूप से डॉक्टर अमित आर्य, डॉक्टर योगेन्द्र सिंह व डॉक्टर अमित पांडे सहित, समाज सेवी संस्थाओं में पंजाबी महिला संगठन की सदस्याऐं, संकट मोचन समिति के सदस्य-गण, मानव सेवा समिति के पदाधिकारी व समस्त पत्रकारों सहित नगर के अन्य प्रमुख गणमान्य नागरिक भी उपस्थित रहे।
सभी ने अपने अपने विचार विचार व्यक्त कर समस्याओं दर्शाया।
इसी कार्यक्रम के मध्य में तहसीलदार यू सी मेहरा व जनपद अध्यक्ष जगन्नाथ सिंह सहित उपस्थित सदस्यों ने मुँगावली सिविल अस्पताल के सभी कक्षों व उनमें मौजूद व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया और वर्तमान में उपस्थित कमियों पर गहरी दृष्टि डाली। जिसमें कई कोणों पर गंदगी व अव्यवस्थाओं का अहसास किया। जहाँ अंदर कुछ स्थानों पर अनुपयोगी सामान पाया गया तो कुछ रूम ऊपर से जर-जर अवस्थाओं में देखने को मिले। जब कुछ जगह पर पर पाई गई गंदगी पर सवाल किया गया तो जवाब में बताया गया कि यहाँ पर सफाई कर्मचारियों की विशेष कमी है। फिलहाल समस्त डॉक्टर्स व स्वस्थ्य कर्मचारियों का कार्य संतुष्टीपूर्ण है परन्तु अन्य कमियों व अव्यवस्थाओं को दूर करना अनिवार्य है।

कोई टिप्पणी नहीं