Breaking News

आईपीएल का सट्टा खिलाने वाले दे रहे है पुलिस को खुली चुनौती ।


जनपद में रोज खिल रहा है  करोडो का सट्टा ,जिले भर में फैला है सटोरियों का नेटवर्क, पुलिस की कार्य प्रणाली पर उठ रहे हैं सवाल ।
ललितपुर ।  जिले भर में आईपीएल का सट्टा जोरों पर है। खिलाड़ी मैदान में भले ही विदेश के हों लेकिन उनकी कीमत और उनके प्रदर्शन पर जेबें जनपद के लोगों की कट रहीं और सटोरिए माला माल हो रहे हैं ।बेहद सुनियोजित ढंग से चलने वाले सट्टे के कारोबार के लिए महीनों से तैयारी करते आये आईपीएल सिंडिकेट के गुर्गों ने पुलिस को अपनी जेब में रखने के ऐलानिया दावों के बीच अपना बाजार सजा रखा है और रोजाना करोड़ों के वारे न्यारे डंके की चोट पर कर रहे हैं। सटोरियों के दावों में कितना दम है इसक सबूत सतना पुलिस की मौन सहमति खुद ही दे रही है।

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार शहर ही नहीं जिले के ग्रामीण इलाकों में भी आईपीएल का सट्टा इनदिनों जोरों पर है। नेटवर्क जिले भर में फैला रखा गया है जिसमे अलग – अलग जगहों पर लिंक मैनेजर , पार्टनर और अन्य गुर्गे तैनात कर दिए गए हैं। जनपद में अन्य जगहों से भी कुछ लोग बुलाये गए हैं ताकि संदेह के दायरे में आने से बचा जा सके। हालांकि आईपीएल सट्टे के सिंडिकेट में शामिल लोगों का दावा है कि जनपद की पुलिस उनका कभी कुछ नहीं बिगड़ सकती इसलिए संदेह के घेरे में आने की ज्यादा चिंता नहीं है।
सूत्र बताते हैं कि कुछ महीनों पहले तक जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में फड़ सजा कर तथा चलती कार में घुमा – घुमा कर जुआं खेलवाने वाला शातिर भी अब आईपीएल कर सौदागर बन बैठे है।

खुला दावा – सट्टेबाजों पर कौन डालेगा हाथ ?

आईपीएल के सट्टा बाजार में रोजाना जनपद में करोड़ों के वारे न्यारे हो रहे हैं। आईपीएल सटोरियों के गुर्गों के दावों के अनुसार उन पर कोई हाथ डाल भी नहीं सकता क्योंकि सब कुछ मैनेज रहता है। सूत्रों की मानें तो कुछ लोग तो छाती ठोंक कर कहते है कि जिन्हे सरकार ने हाथ डालने की जिम्मेदारी दी है उनकी जेबें हम इतनी भर देते हैं जितनी उनकी एक महीने की सरकारी तनख्वाह से भी नहीं भरती। वो दोनों हाथ से लेते हैं और हम दोनों हाथ से सिर्फ ।

कोई टिप्पणी नहीं