Breaking News

ट्राई साइकिल एवं सहायक उपकरण पाकर दिव्यांगो के चेहरे खिले ।


प्रभारी मंत्री ने ललितपुर में पात्र 21दिव्यांगों को बांटी ट्राई साइकिलें ।

ललितपुर। विकास भवन परिसर में पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग एवं दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग के सौजन्य से दिव्यांगजनों को सहायक उपकरण एवं साइकिल वितरण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में सर्वप्रथम प्रभारी मंत्री गिरीश चन्द्र द्वारा मां सरस्वती के चित्र पर दीप प्रज्जलन एवं माल्यार्पण कर कार्यक्रम की विधितव शुरुआत की। इसके उपरान्त प्रभारी मंत्री ने कहा कि सरकार ने दिव्यांगजनों के विकास के लिए अनेक कल्याणकारी योजनाएं संचालित की हैं, जिससे दिव्यांगजनों को आत्मनिर्भर बनने के अवसर प्राप्त हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोई भी दिव्यांग अपने आपको किसी कार्य में अक्षम न समझे, हर व्यक्ति में कोई न कोई विशेषता होती है जो दूसरों में नहीं होती, जरुरत है तो बस अपनी क्षमता को पहचानने की। उन्होंने कहा कि सरकार ने दिव्यांगजनों के विवाह के लिए दिव्यांग विवाह प्रोत्साहन योजना योजना संचालित की है जिसमें वर अकेले के दिव्यांग होने पर रू.15000/-, वधू अकेले के दिव्यांग होने पर रू.20000/- एवं वर-वधू दोनों के दिव्यांग होने पर रू.35000 का अनुदान प्रदान किया जाता है। विवाह के समय वर की आयु 21 से 45 वर्ष के मध्य हो एवं वधू की आयु 18 से 45 वर्ष के मध्य होनी चाहिए। इसके साथ ही दुकान संचाचल योजना से दिव्यांगजनों को स्वरोजगार स्थापित करने के अवसर उपलब्ध हो रहे हैं। इसमें दुकान निर्माण हेतु रू0 20000/- तथा दुकान, खोखा, गुमठी, ठेला संचालन हेतु रू. 10000 की धनराशि प्रदान की जाती है। इसी प्रकार दिव्यांग पेंशन योजनान्तर्गत रू0 500 प्रतिमाह एवं कुष्ठावस्था पेंशन योजनान्तर्गत रू. 2500 प्रतिमाह की दर से पेंशन प्रदान की जाती है। उन्होंने कहा कि आज कृत्रिम अंग एवं सहायक उपकरण वितरण योजना के तहत 21 पात्र लाभार्थियों को ट्राईसाइकिल वितरित की जा रही है, इस योजना के तहत प्रथम आवक प्रथम पावक के सिद्वान्त के आधार पर पात्र आवेदकों को वांछित उपकरण यथा-ट्राईसाईकिल, व्हील चेयर, बैसाखी, छड़ी, कान की मशीन, सी.पी.चेयर, इत्यादि प्रदान किये जाते हैं। इसके उपरान्त उन्होंने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के तहत सभी को शपथ दिलाई। साथ ही उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार बेटियों के कल्याण के लिए पूरी तत्परता के साथ कार्य कर ही है। उनके उत्थान के लिए अनेक योजनाएं संचालित कर रही है। सरकार ने कन्या सुमंगला योजना, मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना जैसी अनेक कल्याणकारी योजनाएं संचालित की हैं, जिससे बेटियों को जन्म से ही उनका अधिकार मिल सके, साथ ही आर्थिक सहायता देकर समाज से बेटियों को बोझ समझने जैसी सोच एवं भ्रूण हत्या जैसी कुरीतियों को भी समाप्त किया है। सरकार यह सुनिश्चित कर रही है कि बेटियों को अच्छी शिक्षा मिले, जिससे वे अपने आपको सक्षम बना सकें। इसके पश्चात प्रभारी मंत्री जी ने जनपद के 21 पात्र दिव्यांगजनों को ट्राईसाइकिल वितरित की। इस अवसर पर राज्यमंत्री मनोहरलाल पंथ, जिलाधिकारी अन्नावि दिनेशकुमार, एसपी कैप्टन एम.एम.बेग, सीडीओ अनिल कुमार पाण्डेय उपस्थित रहे।

कोई टिप्पणी नहीं