Breaking News

कृषि अध्यादेश के विरोध में उतरी भारतीय जन सम्मान पार्टी ।


राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन भेजकर की कृषि बिल निरस्त कराने की मांग ।


ललितपुर (रमेश श्रीवास्तव)। भारतीय जन सम्मान पार्टी के कार्यकर्ताओं ने जिलाधिकारी के माध्यम से उत्तर प्रदेश के महामहिम राज्यपाल को ज्ञापन भेजा है। ज्ञापन में कहा गया है केन्द्र सरकार के द्वारा 30 सितंबर को राज्यसभा में वोटिंग की किसान विरोधी बिल को तानाशाही पूर्वक असंवैधानिक तरीके से पाठ किया गया जिसका पूरे 30 किसान सड़कों पर आकर विरोध कर रहे और सरकार उनके आंदोलन को दबाने के लिए पुलिस बल का प्रयोग कर रही है। भारतीय जन सम्मान पार्टी ने महामहिम राज्यपाल से किसानों के साथ इतनी स्थान दमनकारी अधिनियम को निरस्त किये जाने, साथ में किसानों की फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य अधिनियम बनाये जाने की मांग उठाते हुये सरकार को उसके द्वारा किया वादा भी याद दिलाया, जो देश के प्रधानमंत्री ने चुनाव से पहले जनता से किया था। आगे उन्होंने ज्ञापन में लिखा है लॉकडाउन की वजह से 70 परसेंट युवा बेरोजगार हो गया है, लेकिन सरकार इस ओर अपना ध्यान केंद्रित नहीं कर रही है, बल्कि धीरे-धीरे सभी सरकारी कम्पनियों की सरकार निजीकरण कर रही है। इसका भी हमारी पार्टी पुरजोर विरोध करती है। ज्ञापन देते समय बुन्देलखण्ड जोन प्रभारी जावेद अहमद किरमानी, विक्रम, सलाम पठान, इमरान, जाहिद, आसिफ, फिरोज मंसूरी, सोनू भाईजान, मोगली पठान, राम गोपाल साहू, आरिफ अली, नगर अध्यक्ष शाहबाज खान के हस्ताक्षर बताए जाते है।

कोई टिप्पणी नहीं