Breaking News

मोरवा पुलिस के प्रयास से ही चंद घंटों में घरवालों से मिल सका अबोध बालक।


बच्चे को सुरक्षित देख खिले परिजनों के चेहरे, मोरवा पुलिस का व्यक्त किया आभार

सिंगरौली । मोरवा पुलिस की तत्परता एवं स्थानीय लोगों की सक्रियता से बाजार में परिजनों से बिछड़ा अबोध बालक कुछ ही घंटों में परिजनों से मिल सका। गौरतलब है कि अपनी मां के साथ बाजार करने आया *अबोध बालक अभिषेक गुप्ता* भीड़ में मां से कहीं बिछड़ गया था, जहां बच्चे को रोता हुआ देख *पंडित भोजनालय* के कर्मचारियों ने पुलिस को सूचना दी। जिसके बाद *मोरवा निरीक्षक मनीष त्रिपाठी* द्वारा लाउडस्पीकर द्वारा घोषणा कराकर गुम हुए बच्चे के परिजनों की तलाश की जाने लगी। घरवालों के विषय में कुछ भी बताने में असमर्थ अबोध बच्चा रोता जा रहा था। इस बीच सोशल मीडिया पर भी लोगों ने सक्रियता दिखाते हुए बच्चे को ढूंढने की मुहिम छेड़ दी। कुछ ही समय में बच्चे की खबर सोशल मीडिया पर वायरल हो गई। जिस कारण बच्चे की मां का पता लग सका। मोरवा थाने पहुंचकर *अभिषेक गुप्ता की मां सीता देवी पति धनंजय गुप्ता उम्र 30 वर्ष निवासी सर्किट हाउस रोड* ने बच्चे को सुरक्षित पाया तो वह फूली नहीं समाई। बच्चे को सुरक्षित पाकर महिला ने पुलिस कर्मियों को धन्यवाद दिया। 
बच्चों को ढूंढने की सफल प्रयास में उपनिरीक्षक रूपा अग्निहोत्री, विनय शुक्ला, आरक्षक राजन बागरी व महिला आरक्षक जयाअंजली दुबे की अहम भूमिका रही।

कोई टिप्पणी नहीं