Breaking News

ओएलएक्स पर आर्मी के पहचान पत्र से हो रही है ठगी


सावधान कहीं आप या आपका पहचान वाला न बन जाएं ठगी का शिकार । 
ललितपुर। यदि आप भी ओएलएक्स जैसी वेबसाइट्स से सेकेंड हैंड सामान सस्ते में खरीदते हैं तो आपको बहुत ही सतर्क रहने की जरूरत है। हमारे शहर ललितपुर में बड़ रहे है इस तरह की ठगी के मामले। ओएलएक्स पर ठग आजकल काफी सक्रिय हैं और वे लोगों को लगातार चूना लगा रहे हैं। खास बात यह है कि ये ठग लोगों को विश्वास दिलाने के लिए आर्मी की फर्जी आईडी का सहारा ले रहे हैं। ओएलएक्स पर ठगी का ताजा मामला शहर के कचहरी मन्दिर के पुजारी का सामने आया है, जहां मन्दिर के पुजारी को ओएलएक्स के ठगों ने ठगी का शिकार बनाते हुए उनके साथ यह धोखाधड़ी कर दी। उन्होंने बताया उन्हें एक गाड़ी की जरूरत थी। उन्हें ओएलएक्स पर एक गाड़ी पसंद आई। उन्होंने ओएलएक्स पर एक विज्ञापन देखा और बेचने वाले से संपर्क किया। ओएलएक्स पर गाड़ी लिस्ट करने वाले ने पुजारी बद्री प्रसाद को बताया कि वह सेना में है। ठग ने पुजारी बद्री प्रसाद को आर्मी का आईडी कार्ड भी दिखाया जिसके बाद मन्दिर के पुजारी को भरोसा हो गया। आईडी कार्ड देखने के बाद पुजारी बद्री प्रसाद ने बोलेरो गाड़ी खरीद ली और पेटीएम से 70000 रुपये भेज दिए, लेकिन उसके बाद वह आजकल की कहकर तसल्ली देता रहा तभी पुजारी को संदेह हुआ। फिर बाद में पता चला कि ठग के द्वारा जो आईडी कार्ड दिखाई गई थी वह नकली थी और बोलेरो के कागजात भी नकली थे। पुलिस में शिकायत करने पर भी रिपोर्ट दर्ज नहीं हुई। साइबर एक्सपर्ट एड पुष्पेन्द्र सिंह चौहान बताते है कि ओएलएक्स पर  होने वाला यह ठगी का यह पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी कई बार आर्मी की नकली आईडी दिखाकर ललितपुर के कई लोगों के साथ ठगी हुई है।प्रतिदिन लोग नासमझी में ओएलएक्स के शातिर ठगो से ठगी का शिकार हो रहे है। लोगो को फंसाने के लिए अक्सर ठग आर्मी की आईडी इस्तेमाल करते हैं तो आपके लिए यह जरूरी है कि ओएलएक्स से आंख बंद करके खरीदारी ना करें। ओएलएक्स पर इस तरह की ठगी को लेकर सीआईएसएफ ने इसी साल जुलाई में चेतावनी भी जारी की थी। अगर सिर्फ हमारे ललितपुर शहर की बात की जाए तो ठगो ने करोड़ों रुपया ठग लिया है। नई ऐप बेस्ड पेमेंट सर्विसेज और यूपीआई से जुड़ी समझ की कमी और जरा सी लापरवाही यूजर्स को इसका शिकार बना देती है। ऐसे में सतर्क रहना जरूरी है। ओएलएक्स या क्विकर पर कोई सामान खरीदने के लिए ऐड डालने वाले से एक बार आमने-सामने मिलने में समझदारी है। ऐसे में आप चाहें तो कैश पेमेंट भी दे सकते हैं। ध्यान रहे, जरा सी लापरवाही जहां आपको स्कैम का शिकार बना सकती है, वहीं थोड़ा सतर्क रहकर इनसे बचा भी जा सकता है।

कोई टिप्पणी नहीं