Breaking News

घर में अकेली महिला को बंधक बनाकर सरहंगों ने काट ली तिल की खड़ी फसल।


 पुलिस चौकी कुदंवार अंतर्गत कानून व्यवस्था डावाडोल ,मौके पर पहुंची हंड्रेड डायल सरहगों को बुलावा दे कर लौटी वैरंग ।
    
देवसर । विगत दिनों थाना जियावन के पुलिस चौकी कुदंवार अंतर्गत ग्राम खंधौली भाठ टोला में एक गंभीर मामला प्रकाश में आया है जहां घर में रह रही एक अकेली महिला को उसी के घर में करीब आधा दर्जन लोग पहुंचकर जिसमें कई महिलाएं भी शामिल हैं फरियादिया का हाथ ,पैर व मुंह बांधकर उसी के घर में बंधक बना कर उसके कब्जे की भूमि पर बोई  तिल की पूरी फसल ही काट ले गए ।  पीड़िता सुनीता पति सूरज भान यादव उम्र करीब 26 वर्ष निवासी ग्राम खंधौली भाठ टोला पुलिस चौकी कुदंवार थाना जियावन ने आज थाना आकर लिखित तहरीर दी है कि विगत 26 सितंबर शनिवार को सुबह 9:00 बजे के करीब जब मैं घर में अकेली थी और मेरे पति बाहर काम करने गए हैं तथा मेरा बड़ा लड़का कृष्ण कुमार उम्र 10 वर्ष बकरी चराने जंगल गया था तो गांव के ही करीब आधा दर्जन व्यक्ति जिसमें कई महिलाएं भी शामिल थी वे सभी लोग लाठी, टांगी लेकर आए और फसल काटने लगे तभी मैं हंड्रेड डायल कर पुलिस को सूचना दी और कुछ ही देर में पुलिस भी पहुंच गई तथा आरोपियों को फसल काटने से मना कर पुलिस चौकी कुंदवार आने को कह कर वापस चली गई  । लेकिन पुलिस के जाते ही सरहंगो ने पहले मेरा मोबाइल फोन छीना फिर  गुड्डन पति महीप गुर्जर ,वेदंतिया पति आनंद गुर्जर ,इंद्र कली पति राजेंद्र गुर्जर ,तथा अनेश गुर्जर ,महेश गुर्जर, सुशीले गुर्जर, व अखिलेश गुर्जर यह सभी लोग मिलकर मेरा हाथ ,पैर वह मुंह बांधकर हमारे ही घर में बंधक बना दिए एवं बाहर से सकड़ी लगाकर मेरे खेत में बोई तिल की फसल काट कर ले गए ।  आरोपी सरहंगो द्वारा फसल काटने के बाद छीने हुए मेरे मोबाइल फोन को मेरे आंगन में फेंक कर भाग गए । इसके बाद दोपहर में मेरा बेटा कृष्ण कुमार जब जंगल से बकरी चरा कर आया तो आंगन में पड़ा मोबाइल उठाया और घर में लगी साकर खोला तथा मुझे बंधक देखकर हैरानी पूर्वक मेरा हाथ पैर खोल कर मुझे छुड़ाया ।                                पीड़िता सुनीता यादव इस पूरे घटना से भयभीत है तथा आगे बताई कि आरोपी गण काफी सवल हैं एवं बीच-बीच में मारपीट की हुडकी धमकी देते रहते हैं जिसकी पूर्व में भी पुलिस चौकी कुदंवार में उक्त आशय की रिपोर्ट कर चुकी हूं किंतु कार्यवाही ना होने से आरोपियों का मनोबल बढ़ गया है । पीड़िता ने पुलिस से गुहार लगाते हुए आरोपियों के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही की मांग की है ।

कोई टिप्पणी नहीं