Breaking News

हाथरस में सामूहिक दुष्कर्म पर आक्रोश ।


महर्षि बाल्मीकि महासभा ने दोषियों को फांसी देने की उठायी मांग । 
      महामहिम राष्ट्रपति व मुख्यमंत्री को भेजा ज्ञापन
ललितपुर। उत्तर प्रदेश के जनपद हाथरस में युवती के साथ हुये सामूहिक दुष्कर्म के मामले में आरोपियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही किये जाने और पीडि़ता को जल्द से जल्द न्याय दिलाये जाने की मांग की गयी है। इस सम्बन्ध में महर्षि बाल्मीकि सेवा समिति ने प्रदेश अध्यक्ष मंजीत करौसिया के नेतृत्व में एक ज्ञापन देश के महामहिम राष्ट्रपति व मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजा है। ज्ञापन में बताया कि विगत 14 सितंबर 2020 को हाथरस के ग्राम बुलीगड़ी में बाल्मीकि समाज की बेटी के साथ हुए सामूहिक बलात्कार के बाद दरिंदों ने पीडि़ता की जीप काट कर, गर्दन दबा कर मारने की कोशिश की थी, जिसकी इलाज के दौरान विगत दिवस मृत्यु हो गई। मांग उठाते हुये कहा कि पीडि़ता के साथ हुई दरिंदगी का मामला फास्ट ट्रेक कोर्ट में चलाकर सभी दरिंदों को सजा-ए-मौत (फांसी) की सजा दी जाये। इससे पूर्व सभी लोगों ने पीडि़ता की आत्मा की शांति हेतु 2 मिनट का मौन धारण कर श्रद्धांजलि अर्पित की। इस दौरान प्रदेश अध्यक्ष मंजीत करौसिया, वन्दना भारती, नवल घावरी, संजय सपेरा, आशीष करौसिया, बृजेश बाल्मीकि, अमित करौसिया, रानू पारोचे, जितेन्द्र करौसिया, संजीव कुमार, अभिषेक पारोचे, अमन बाल्मीकि, प्रिंस बाल्मीकि, हरिशंकर बाल्मीकि आदि मौजूद रहे।

कोई टिप्पणी नहीं