Breaking News

डोर टू डोर सर्वे में लापरवाही वरतना आशा कार्यकत्रियों को पड़ा मंहगा ।



जिलाधिकारी ने सीएमओ को दिए 17 गांव की आशा कार्यकत्रियों की सेवा समाप्ति का आदेश ।
हैम्योपैथी कर्मचारी के विरुद्ध एफआईआर के निर्देश।


ललितपुर (रमेश श्रीवास्तव)।  जिलाधिकारी योगेश कुमार शुक्ल की अध्यक्षता में कोविड-19 कोर कमेटी की बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित की गई।
बैठक के दौरान अन्य दिनों की बजाय शनिवार को जिलाधिकारी के तेवर सख्त नजर आए उन्होंने लापरवाह कर्मचारियों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई करने के मूड में नजर आए ।
शनिवार को आयोजित हुई  बैठक में सर्वप्रथम डोर टू डोर सर्वे की समीक्षा की गई, जिसमें मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि जनपद में डोर टू डोर सर्वे का काम चल रहा है जनपद के 17 ग्रामों में टीमें सर्वे करने नहीं जा रही है, जिनमें मडावरा, जखौरा, कुआतला, पूराकला, किसलवास, दैलवारा, आलापुर, गुरसौरा, लखनपुरा, ककरुआ, मैनवारा, चौंसा, जमौरा माफी, बांसी, हर्षपुर सहित अन्य ग्राम शामिल हैं। इस पर जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश देते हुए कहा कि उक्त 17 ग्रामों की टीमों की आशाओं के विरुद्ध सेवा समाप्ति की कार्यवाही करें।
कोविड अस्पतालों की समीक्षा के दौरान डा.जे.एस.बक्शी ने बताया कि तालबेहट एल-1 अस्पताल में जांच के दौरान पाया गया कि स्वीपर कम चौकीदार शराब के नशे में थे। उन्होंने बताया कि पहाड़ सिंह वार्ड बॉय एवं द्वारका स्वीपर कम चौकीदार जिला आयुर्वेदिक चिकित्सा अधिकारी के कर्मचारी हैं,  तालबेहट एल-2 अस्पताल में डॉक्टर आर्या तैनात हैं परंतु निरीक्षण के समय वह उपस्थित नहीं पाए गए। साथ ही अस्पताल में 4 वेंटिलेटर स्थापित हैं जिनमें से दो कार्य कर रहे हैं। यहां पर तैनात होम्योपैथिक विभाग के कर्मचारी सुनील कुमार अनुपस्थित पाए लापरवाही पर जिलाधिकारी ने एफआईआर दर्ज करा कर सूचित करने के निर्देश दिए। इसके उपरांत बैठक में अवगत कराया गया कि जनपद में कुल 291 मरीज होम आइसोलेशन में रखे गए हैं, इस पर जिलाधिकारी ने निर्देश दिए कि होम आइसोलेशन के मरीजों की यह जिम्मेदारी है कि वह घर से बाहर ना निकले, वह घर पर ही रह कर अपने ऑक्सीजन लेवल एवं अन्य स्वास्थ्य संबंधी जांच करते रहे तथा स्वास्थ संबंधी कोई भी समस्या होने पर तत्काल रैपिड रिस्पांस टीम को अवगत कराएं। उन्होंने कहा कि होम आईओलेशन के मरीजों एवं उनके परिवार वालों के मोबाइल में आरोग्य सेतु एवं आयुष कवच ऐप डाउनलोड होना अनिवार्य है। होम आइसोलेशन हेतु आवेदन करने वाले मरीजों से आइसोलेशन के नियमों का कड़ाई से पालन कराया जाए। इसके उपरांत बैठक में रैपिड रिस्पांस टीम के एक व्यक्ति के पॉजिटिव पाए जाने पर जिलाधिकारी महोदय ने टीम के सभी सदस्यों की जांच कराने के निर्देश दी है। बैठक में यह भी अवगत कराया जाए कि जिलाधिकारी के निर्देशानुसार जनपद के जो दुकानदार मास्क नहीं पहन रहे हैं उनके विरुद्ध कार्रवाई की जा रही है।

कोई टिप्पणी नहीं