Breaking News

आजीविका मिशन जिला परियोजना प्रबंधक के तानाशाही रवैया के कारण मिशन कर्मियों को 6 माह से नहीं मिला वेतन।

सिंगरौली । राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन जिला पंचायत सिंगरौली में पदस्थ श्रीमती अंजुला झा के तानाशाही एवं दमनकारी नीति के कारण मिशन कर्मी आए दिन किसी न किसी समस्या को लेकर परेशान दिख रहे हैं। रामदयाल साकेत समूह प्रेरक मध्यप्रदेश राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन जिला राजगढ़ से स्थानांतरित होकर माह मार्च में विकासखंड चितरंगी जिला सिंगरौली में शासनादेश के तहत पदस्थ हुए हैं उन्हें विकासखंड चितरंगी में कार्य करते विगत 6 माह से ऊपर हो चुका है किंतु जिला परियोजना प्रबंधक द्वारा एक भी माह का वेतन एवं शासनादेश के तहत एरियर की राशि रामदयाल साकेत समूह प्रेरक को भुगतान नहीं की गई है जिस कारण रामदयाल साकेत का परिवार भूखों मरने की कगार पर पहुंच चुका है कई बार जिला परियोजना प्रबंधक अंजुला झा से मौखिक और लिखित आवेदन कर चुके हैं फिर भी जिला परियोजना प्रबंधक संवेदनहीनता की पराकाष्ठा को पार कर चुकी हैं निवेदन करने पर भी किसी प्रकार की कार्यवाही नहीं की जा रही है इसी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि उनकी मंशा क्या है या तो रिश्वत चाहती हैं या प्रताड़ित करने का इनका नया हथकंडा है। इसी प्रकार विकासखंड बैढ़न में पदस्थ सूर्यवती गुप्ता के साथ भी किया जा रहा है इनका भी कई माह से वेतन का भुगतान नहीं किया गया है और मिशन पदस्थ सभी कर्मचारियों का 2 से 3 माह का भुगतान नहीं किया गया है। जिला परियोजना प्रबंधक इस दोहरे रवैए के कारण मिशन कर्मी अपना और अपने परिवार का कैसे भरण पोषण करें। यदि किसी भी मिशन कर्मी के साथ अप्रिय घटना घटित होती है तो उसकी जवाबदारी जिला परियोजना प्रबंधक की होगी।
इस ओर जिला प्रशासन का ध्यान आकृष्ट कराना चाहूंगा कि ऐसे जिलाधिकारी को तत्काल पद से हटाया जाए जिससे आगे इस प्रकार की समस्या उत्पन्न ना हो और कोई भी कर्मचारी प्रताड़ित ना हो।

कोई टिप्पणी नहीं