Breaking News

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने टीकमगढ़ के खरगापुर में घटित दुखद घटना पर उठाये सवाल ।


     टीकमगढ़ (मनीष यादव) । मध्य प्रदेश के टीकमगढ़ जिले के खरगापुर में वार्ड क्रमांक-8 के निवासी स्व. धर्मदास सोनी, उनकी पत्नि स्व . पूना सोनी, उनके पुत्र स्व .  मनोहर सोनी, उनकी पुत्रवधु स्व. सोनम सोनी और उनके पोते स्व. सानिध्य् सोनी के शव फांसी के फंदे पर लटके हुए मिले । उक्त घटना अत्यंत दुखद है । मेरे द्वारा दिनांक 24 अगस्त , 2020 को प्रारंभिक तौर पर संदेह के आधार पर इस घटना की निष्पक्ष  जॉंच की मांग की गयी थी, परन्तुा अबतक की गई जॉंच की कार्यवाही संतोषप्रद नहीं है । उक्त  घटना और अब तक सरकार द्वारा घटना पर की गई कार्यवाही के कारण न केवल बुंदेलखंड बल्कि सम्पूर्ण प्रदेश के जनमानस में असंतोष एवं आक्रोश व्याप्त  है । 
प्रारंभिक तौर पर दिवंगत श्री सोनी की भूमि को क्रय करने के लिए माफियाओं द्वारा उन पर दबाव बनाने एवं तत्पश्चात  16 लाख की धोखाधड़ी के बिन्दु सामने आये थे । प्उक्त भूमि की कीमत भी 1 करोड़ से अधिक की बताई गई है । जिला पुलिस प्रशासन द्वारा की गई कार्यवाही में केवल आत्महत्या के लिए उकसाने का प्रकरण मानकर जॉंच की जा रही है, जबकि घटना के संबंध में अनेक अनुत्तरित बिन्दु ऐसे हैं, जिससे कि स्व.श्री सोनी एवं उनके परिवार की हत्या  किये जाने का संदेह उत्पन्न होता है । राज्य सरकार द्वारा घटना के सम्बंध में निम्न बिन्दुओं को संज्ञान में लेकर घटना के वास्तिविक तथ्यो को सामने लाना चाहिए :-
1. एक ही घटना के सम्बंध में 2 सुसाईड नोट मिले हैं- एक पिता का और दूसरा पुत्र का । 
2. सभी मृतकों के पैर जमीन पर टिके हुए थे।
3. परिवार के 4 सदस्यों द्वारा एक कक्ष में फांसी लगाना और एक सदस्य द्वारा दूसरे कक्ष में फांसी लगाना ।
4. पांच साल के बच्चे द्वारा फांसी लगाना ।
5. स्व.श्री सोनी की पत्नि और मॉं की कलाईयों का कटा होना ।
6. घर की लाईट और इन्वर्टर का बंद होना । 
7. भूमि के विक्रय के लिए दबाव बनाने का बिन्दु  । 
8. भूमि के क्रय-विक्रय में 16 लाख रूपये की धोखाधड़ी होना । 
9. भूमि की कीमत 1 करोड़ से अधिक होने के बाबजूद शेष राशि के सम्बं ध में कोई तथ्य सामने न आना ।
10. एक ही रस्सी  के अलग-अलग टुकड़ों से फांसी लगाये जाना ।
उक्ते बिन्दु्ओं को ध्यान  में रखते हुए सम्पूर्ण प्रकरण के सम्बंध में की जा रही जॉंच एवं विवेचना प्रकरण की लीपापोती से अधिक प्रतीत नहीं होती है । ऐसा प्रतीत होता है कि माफियाओं को बचाने के लिए इस तरह का कृत्य किया जा रहा है । 
आज प्रदेश में माफियाओं का राज हो गया है । विगत 5 माह में प्रदेश सरकार द्वारा माफियाओं के संरक्षण एवं पोषण का कार्य किया जा रहा है । ऐसे माफिया जो मेरे कार्यकाल में प्रदेश छोड़कर भाग गये थे, वे पुन: प्रदेश में आ गये हैं और सरकार द्वारा उनको सहयोग कर प्रदेश में माफियाराज को कायम कराया जा रहा है । ऐसी सरकार जिसका आधार ही भ्रष्टाचार और खरीद फरोख्त है, वो ऐसे ही लोगों को पोषित करेगी और उन्हीं  के लिए कार्य करेगी ।
आज स्व.श्री सोनी एवं उनके परिवार की मृत्यु का विषय केवल खरगापुर, टीकमगढ़ या बुंदेलखंड का विषय नहीं है, यह विषय है सम्पूर्ण प्रदेश में चल रहे माफियाराज का । सरकार द्वारा माफियाओं को दिये जा रहे संरक्षण से प्रदेश में इस तरह की घटनायें निरंतर बढ़ रही हैं । पूरे प्रदेश में एकपक्षीय कार्यवाहियॉं आप सबके सामने है । राजनैतिक दबाव के कारण पुलिस सतत् दबाव में कार्य कर रही है और प्रकरणों में वास्तविक जॉंच किये बिना लीपापोती की जा रही है । 
मैं प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान जी से अनुरोध करता हॅूं कि प्रदेश को माफियाराज में डूबने से बचायें और प्रदेश को सदमार्ग पर चलायें । आज प्रदेश के आमजन की  भी यह मांग है कि स्वे.श्री सोनी एवं उनके परिवार की मृत्यु की दुखद घटना की उच्चस्तरीय , स्वतंत्र , निष्प्क्ष व गहन जॉंच हो अन्य‍था की कांग्रेस न केवल बुंदेलखंड बल्कि पूरे प्रदेश  में उपजे इस जनआक्रोश को लेकर सड़कों पर उतरेगी । 

कोई टिप्पणी नहीं