Breaking News

आन-वान-शान से फहराया तिरंगास्वतंत्रता दिवस पर हर्षित है जनपदवासी : डीएम

ललितपुर। जनपद में शासन के दिशा-निर्देशों के अनुसार सोशल डिस्टेंसिंक का पालन करते हुए 74 वे स्वतंत्रता दिवस समारोह का आयोजन किया गया। स्वतंत्रता दिवस समारोह के अवसर पर राज्यमंत्री मनोहर लाल पंथ, विधायक सदर रामरतन कुशवाहा, जिला पंचायत अध्यक्षा जयश्री खटीक, नपाध्यक्ष रजनी साहू एवं जिलाधिकारी योगेश कुमार शुक्ल द्वारा घण्टाघर स्थित परमपूज्य राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, चन्द्रशेखर आजाद, वीर सांवरकर एवं लौह पुरूष सरदार बल्लभ भाई पटेल की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धा-सुमन अर्पित किये गए। इसके पश्चात इन्हीं के द्वारा जेल चौराहा स्थित अम्बेडकर पार्क में बाबा साहब डा.भीमराव अम्बेडकर की प्रतिमा एवं तुवन चौराहे पर वीरांगना रानी अवंतीबाई तथा परमानंद जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया गया। मौके पर सभी अतिथियों द्वारा राष्ट्रगान भी गाया गया। इसके उपरान्त जिलाधिकारी द्वारा जिलाधिकारी आवास व कलैक्ट्रेट परिसर में ध्वजारोहण किया गया, यहां पर सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने राष्ट्रगान गाया। तत्पश्चात जिलाधिकारी सहित समस्त उपस्थित अधिकारीगणों ने कलैक्ट्रेट सभागार में आयोजित कार्यक्रम में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के चित्र पर माल्यार्पण एवं पुष्प अर्पित किये। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने कहा कि स्वतंत्रता दिवस हमारा राष्ट्रीय पर्व है, जिसके लिए हर भारतवासी गौरवान्वित है। उन्होंने कहा कि स्वंतत्रता का मूल्य वही समझ सकता है, जिसने अंग्रेजों के शासन का समय देखा है। गुलामी कितनी कष्टकारी होती है यह वही बता सकता है जिसने उस समय का आभास किया है। हमारे देश के वीर सपूतों, बलिदानियों के बलिदान के कारण ही आज हमें यह स्वतंत्रता मिली है। इस अवसर पर हमें यह संकल्प लेना है कि अपने देश की एकता, अखण्डता को अक्षुण बनाये रखें, जिससे हमारा देश और अधिक सशक्त व समृद्ध राष्ट्र बन सके। सभी अधिकारी व कर्मचारी अपने-अपने दायित्वों का निवर्हन पूरी ईमानदारी एवं निष्ठा के साथ करें। इसके साथ ही सभी जनपदवासी आज के इस पावन अवसर को पूरी एतियात के साथ मनायें। कहीं पर भी भीड़ एकत्रित न करें, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें, अनिवार्य रुप से मास्क धारण करें। इसके उपरान्त अपर जिलाधिकारी न्यायिक लवकुश त्रिपाठी ने कहा कि आज का यह पर्व हमारे लिए अत्यन पावन पर्व है। क्योंकि आज के दिन हम अंग्रेजी शासन की गुलामी से आजाद हुये थे। उन्होंने कहा कि यह आजादी हमें अपने देश के उन वीर सपूतों के कारण मिली है जो हंसते-हंसतें देश के लिए बलिदान हो गए। हम ऐसे वीर सपूतों का आज शत-शत नमन करते हैं और यह संकल्प लेते हैं कि अपनी स्वतंत्रता और देश की अक्षुणता को बनाये रखने के लिए हमेशा प्रयास करते रहेंगे। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी एवं कर्मचारी अपने-अपने क्षेत्र में अच्छा कार्य करें, जिससे राष्ट्र की और अधिक उन्नति हो सके। इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी अनिल कुमार मिश्र ने कहा कि हमारे स्वतंत्रता सेनानियों ने आजादी के लिए जो स्वप्न देखा था उसे सन् 1947 में सच कर दिखाया। आजादी के सही मायने हमारे पास आने वाले पीढि़तों को न्याय दिलाना है। हमें अपने राष्ट्र की सम्पत्तियों की रक्षा करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि हमारा देश 15 अगस्त 1947 को आजाद हुआ था तथा 26 जनवरी 1950 को हमारे देश का संविधान लागू हुआ था। संविधान में हमें मौलिक अधिकार एवं मौलिक कर्तव्य प्रदान किये गए हैं। हमें अपने मौलिक अधिकारों के साथ-साथ अपने मौलिक कर्तव्यों को भी ध्यान में रखना है तथा देश, समाज के प्रति हमारे जो दायित्व हैं उनका पूरी ईमानदारी के साथ निवर्हन करना है। इससे राष्ट्र और अधिक उन्नति करेगा। कार्यक्रम के समापन के उपरान्त जिलाधिकारी सहित अन्य अधिकारियों ने कलैक्ट्रेट परिसर में आंवला, अमरुद, शीशम तथा बेल के वृक्षों का रोपण कर पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया।

कोई टिप्पणी नहीं