Breaking News

पानी से भरी खदान में डूबकर दो सगे भाइयों की मौत से परिवार का बुझा चिराग छाया मातम ।


नाराहट थाना क्षेत्र के गांव ङोगरा कला में हुई दिल दहला देने वाली घटना। 
ललितपुर (रमेश श्रीवास्तव) । थाना नाराहट के गांव डोंगरा कला में एक पानी से भरी खदान में डूबकर दो मासूम सगे भाइयों की मौत हो गई  । दो सगे भाइयों की मौत से एक तरफ परिवार का चिराग बुझ गया तो वहीं पूरे गांव में शोक की लहर है ।थाना नाराहट अन्तर्गत ङोगरा कला गाँव के दो मासूम सगे भाई रियाज (12) वर्ष पुत्र रफीक , रोजिश (8)वर्ष पुत्र रफीक  मंगलवार को दोपहर के बाद करीब तीन बजे घर से खेलने की बात कहकर बाहर निकले थे लेकिन देर शाम तक वह घर नहीं लौटे तो  परिजनों को उनकी चिंता सताने लगी और उन्होंने लापता बच्चों की गाँव एवं मुहल्ले  में खोजबीन सुरु कर दी काफी प्रयास करने के बाद भी  दोनों भाइयों का कोई सुराग नहीं मिल सका बुधवार के सुबह खोजबीन के दौरान गाँव के बाहर सडक  किनारें बनी बङी गहरी खदान में एक बच्चे का हाथ पानी में उतराता दिखाई दिया तो ग्रामीण ने पास पहुंच कर देखा तो रियाज का शव पानी में उतरा रहा था ग्रामीणों की मदद से रियाज के शव को बाहर निकाला गया और ग्रामीणों ने काफी मशक्कत के बाद दूसरे बच्चे रोजिश का शव को  बाहर निकालने में सफलता हासिल की । घटना की सूचना पाकर पुलिस क्षेत्राधिकारी पाली फ़ूल सिंह नाराहट थाना प्रभारी आनंद पाण्डेय एवं तहसील दार अभिषेक कुमार सिंह घटना स्थल पर पहुंच कर घटना के सम्बंध में जानकारी ली 
 एक ही परिवार में हुई दो मासूम बच्चों की मौत से परिवार में मातम का माहौल है । माता पिता बच्चों की हुई मौत से बुरी तरह आहत हैं और रो रो कर उनका  हाल बुरा है । पूरे क्षेत्र में शोक व्याप्त है । रफीक के दो बच्चे और तीन बच्ची थीं जिसमें एक साथ दोनों बच्चों की एक साथ मौत हो गई बच्चों के चाचा ने बताया कि छोटा बच्चा रोजिश पानी में ङूब रहा था जिसे बचाने के लिए रियाज पहुंचा वह भी ङूब गया परिजनों ने पोस्ट मार्टम करने से मना कर दिया और कहा कि हमारी गाँव में किसी कोई लङाई झगड़ा नहीं था और न ही किसी रंजिश थी ।

इनका कहना है ।

बच्चों के ङूबने की सूचना मिलने पर घटना स्थल पर गया था खदान में डूबने दोनों बच्चों की मौत हुई है ।
फूल सिंह 
पुलिस क्षेत्राधिकारी पाली 

बच्चों के पिता ने पोस्ट मार्टम करने से मना कर दिया है और कहा कि घर से खेलने की बात कहकर निकले थे वहां कैसे पहुंचे पता नहीं हमारी गाँव में किसी कोई लङाई झगड़ा नहीं था ।
अभिषेक कुमार सिंह 
तहसीलदार पाली  

बच्चों के परिजनों ने पोस्ट मार्टम करने से मना कर दिया और उन्होंने लिखकर दे दिया है कि बच्चों का पोस्ट मार्टम नहीं कराना चाहता हूँ ।
आनंद पाण्डेय 
थाना प्रभारी नाराहट

कोई टिप्पणी नहीं