Breaking News

पत्नी की हत्या करने वाला आरोपी चंद घंटों में गिरफ्तार ।

 
 
टीकमगढ़ ।  आज दिनांक 26.8 .20 को थाना पलेरा अंतर्गत फरियादी अरविंद पटेल पिता  किशोरी लाल पटेल उम्र 27 साल निवासी ग्राम सतवारा ने रिपोर्ट किया कि मेरा घर सुरेंद्र पटेल के घर के सामने हैं आज सुबह करीब 6:00 बजे की बात है मैं अपने घर पर था तब सुरेंद्र पटेल के घर से रोने की आवाज सुनाई दी तो मैं उनके घर के अंदर गया देखा कि सुरेंद्र पटेल अपनी छत पर खड़ा है वह अपने दाहिने हाथ में एक 315 बोर का देसी कट्टा लिया था मैंने सुरेंद्र पटेल के कमरे के अंदर देखा तो उसकी पत्नी रेखा पटेल पलंग पर मरी पड़ी थी उसके पेट पर कई घाव थे तथा सीने में बाएं तरफ गोली लगने का घाव था घर के अंदर आंगन में सुरेंद्र के पिता अरुण कुमार भाई अशोक, विजय एवं उसकी मां राजकुवर तथा विजय की पत्नी राजा बाई थी जो रो रहे थे वह कह रहे थे कि सुरेंद्र पटेल ने रेखा को गोली मारकर तथा चाकुओं से मारकर हत्या कर दी है फरियादी अरविंद पटेल की सूचना पर धारा 302 ताहि का अपराध घटित पाए जाने पर पंजीबद्ध कर वरिष्ठ पुलिस अधिकारी टीकमगढ़ पुलिस अधीक्षक टीकमगढ़
 प्रशांत खरे अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक  एम एल चौरसिया अनुविभागीय अधिकारी पुलिस जतारा योगेंद्र भदौरिया  को घटना के बारे में अवगत कराया गया जिस पर पुलिस अधीक्षक टीकमगढ़ प्रशांत खरे द्वारा उक्त घटना पर तत्काल कार्यवाही करने हेतु दिशा निर्देश दिए जिस पर पुलिस द्वारा तत्काल मौके पर पहुंचकर त्वरित कार्यवाही करते हुए घटनास्थल पर पहुंच कर पाया कि मृतिका  रेखा पत्नी सुरेंद्र पटेल उम्र 35 साल निवासी सतवारा मृत पड़ी थी घटनास्थल पर निरीक्षण पर पुलिस द्वारा पाया गया कि रेखा की हत्या उसके पति द्वारा उसके चरित्र पर शक होने के कारण उसके पति द्वारा की गई है  तदोपरांत तुरंत आरोपी सुरेंद्र  पिता अरुण कुमार पटेल  उम्र 36 साल निवासी सतवारा को तलाश किया गया जिसे बड़ी ही मशक्कत व  त्वरित कार्यवाही से पुलिस के द्वारा उसके गृह निवास के छत के ऊपर से गिरफ्तार कर घटना में प्रयुक्त एक 315 बोर की अददी 5 जिंदा कारतूस 315 बोर के एवं 315 बोर का खाली खोखा एवं एक चाकू जप्त किया गया उक्त कार्यवाही में एफएसएल अधिकारी  प्रदीप यादव, उप निरीक्षक अमित साहू थाना प्रभारी पलेरा उपनिरीक्षक कमल विक्रम पाठक,  उप निरीक्षक आकाश रूसिया, सहायक उपनिरीक्षक आरडी कुशवाहा, आरक्षक मनोज यादव आरक्षक  ज्ञान सिंह आरक्षक भास्कर मिश्रा , आरक्षक अजय रावत, आरक्षक सत्येंद्र सिंह, आरक्षक शिवम दिक्षित, आरक्षक शिव चरण त्रिपाठी आरक्षक भूपेंद्र सिंह की महत्वपूर्ण भूमिका रही।

कोई टिप्पणी नहीं