Breaking News

पूर्व स्वास्थ मंत्री समाज सेवी डाक्टर अरविंद जैन पंचतत्व में विलीन ।



ललितपुर विधानसभा से चार बार विधायक रह चुके हैं डाक्टर अरविंद जैन ।

जाखलोन पंप एवं अपर राजघाट पंप कैनाल के निर्माण में निभाई थी महत्वपूर्ण भूमिका ।
ललितपुर । उत्तर प्रदेश सरकार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री और ललितपुर से लगातार चार बार विधायक रहे डा. अरविंद कुमार जैन गौना वालों का मंगलवार को निधन हो गया उनके अंतिम संस्कार में बड़ी संख्या में लोग सामिल हुए उनके निधन से ललितपुर जिले में शोक का माहौल है और उनके घर पर शोक संवेदना देने वालों का तांता लगा हुआ है । स्वर्गीय डाक्टर अरविंद जैन  ने राम जन्मभूमि आंदोलन से जुडकर उन्होंने इस आंदोलन बुंदेलखंड का प्रतिनिधित्व किया था । उनका पूरा जीवन सरल सहज रहा है वह मिलनसार एवं समाज सेवा की भावना से ओत-प्रोत रहे उनका सम्पूर्ण जीबन समाज सेवा एवं गरीब जनता को सस्ता इलाज उपलब्ध कराने में व्यतीत हो गया । पूरे ज़िले में यह बात मशहूर थी कि डाक्टर साहब के पास सबसे सस्ता इलाज पाकर मरीज़ ठीक हो जाएगा । इसी नेकी की लोकप्रियता ने उनके लिए राजनीति का मार्ग प्रशस्त कर दिया । वह ललितपुर से लगातार चार बार विधायक रहे । एक बार वह बीच वह प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री के पद पर भी आरूढ़ रहे । जैन साहब तत्कालीन फायरब्रांड नेता और मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के काफी नज़दीकी रहे हैं । उन्हें भाजपा के शीर्ष नेतृत्व भी काफ़ी सम्मान देता था । इतना ही नहीं डाक्टर साहब को लगभग सारी विपक्षी पार्टियों के नेताओं से सम्मान प्राप्त होता था ।
उनकी ईमानदारी और गँवई भाषा के कारण वह अत्यंत लोकप्रिय हो गए थे । लोगों से मेलजोल क़ायम रखने के लिए डाक्टर साहब को कोई शिविर लगाने की ज़रूरत नहीं थी । वह सुबह से अपने घर के बाहर बिना तामझाम के बैठ जाते थे और लोगों की समस्या सुनते थे । । वह विधायक रहे हों या मंत्री दिखावे के सख़्त विरोधी थे । जहां आज जनप्रतिनिधि अपने घर के सामने तक पुलिस के क़ाफ़िले के हूटर बजवाते हैं, लेकिन जैन साहब अपने क़ाफ़िले में हूटर का प्रयोग अति आवश्यक होने पर करने को कहते थे ।
ज़िले के विकास के लिए भी उन्होंने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है उनके योगदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता । उनके कार्यकाल में जनपद के पूरे  पठारी क्षेत्र के गाँवों में सिंचाई के साधनों का अभाव था । यहाँ तक कि पठार में लोग लड़कियों की शादी करने में भी हिचकिचाते थे । कांग्रेस सरकार के कार्यकाल की  जाखलौन पंप कैनाल योजना का निर्माण बजट के अभाव में एक लंबे समय से बंद पड़ा था । पठारी क्षेत्र की क़रीब बीस हज़ार हेक्टेयर ज़मीन इस योजना से लाभान्वित होने से संचित बनी हुई थी इस समस्या को गंभीरता से लेते हुए तत्कालीन मुख्यमंत्री कल्याण सिंह से वार्ता करके धन आवंटित कराया और आज यह पठार फसलों से लहलहा रहा है । इसी प्रकार राजघाट बांध से निकली अपर राजघाट कैनाल को एक तकनीकी ख़ामी के चलते इसे बंद करने निर्णय लगभग हो गया था । जब यह बात जैन साहब को पता चली तो उन्होंने एक लंबी लड़ाई लड़ी और आख़िर उनकी जीत हुई । यूआरसी का आज जो स्वरूप है उसमें भी जैन साहब का बड़ा योगदान है । इसके अतिरिक्त रीजनल डायग्नॉस्टिक सेंटर खोलने जैसे उनके अनगिनत जनहितकारी कार्य हैं । 
एक बात और जब जन्मभूमि आंदोलन में डाक्टर जैन सहित भारी संख्या में भाजपा कार्यकर्ताओं को गिरफ़्तार किया तो किसी बात से नाराज़ होकर जेलर ने जेल में लाठीचार्ज करा दिया । इस पर डाक्टर साहब आगे आ गए और कहा कि लाठियाँ चलाना है तो मुझ पर चलाओ । तब कहीं जेलर शांत हुआ । जिस जन्मभूमि आंदोलन में उनका योगदान रहा । जिस आंदोलन से जुड़े रहे हैं उसे पूरा होने का आज वह समय आ गया है लेकिन वह इस एतिहासिक महोत्सव को देखे विना ही वह इस दुनिया से रुखसत हो गये लेकिन उनके योगदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता है ।
पूर्व स्वास्थ्य राज्यमंत्री के निधन पर भाजपा ने की शोक सभा । 

भारतीय जनता पार्टी से ललितपुर विधानसभा से  चार बार विधायक एवं यूपी सरकार में स्वास्थ्य राज्यमंत्री रहे जनपद ललितपुर के गोना गाँव निवासी डॉ अरविंद कुमार जैन के आकस्मिक निधन पर भाजपा कार्यकर्तायो द्वारा मड़ावरा में एक शोक सभा आयोजित की गई।जिसमें वक्तओं ने कहा कि बुंदेलखंड की शान एवं जनपद ललितपुर में राजनीति की पहचान बनाने वाले सरल स्वभाव के धनी पूर्वमंत्री के निधन से पार्टी को छती हुई है।इतने सरल स्वभाव के नेता से सभी को सीख लेनी चाहिये। सभी ने मोन्न धारण कर आत्म शांति की प्राथना की ।इस दौरान भाजपा वरिष्ठ उपाध्यक्ष श्रीराम पटेरिया मंत्री प्रतिनिधि कैलाश साहू मोदी मंडल अध्यक्ष सूरज चौधरी,महामंत्री नारायण सिंह सेंगर  पिछड़ा मोर्चा अध्यक्ष प्रमोद कुमार डोलू सोनी प्रभुदयाल गन्धर्व मुकेश पाल विक्रम बजाज कल्याण सिंह पंचम राजा चांदनी कोरी आदि मौजूद रहे।

कोई टिप्पणी नहीं