Breaking News

घर-घर पूजे जायेंगे भगवान श्रीकृष्ण !

श्रीगणेश की छोटी प्रतिमाओं को घर में रखकर पूजन करने का आह्वान
प्रशासन ने त्यौहारों के मद्देनजर गाइड लाइन का अनुपालन करने की अपील की
ललितपुर। जिलाधिकारी योगेश कुमार शुक्ल की अध्यक्षता में कोरोना महामारी के दृष्टिगत जन्माष्टमी, गणेश चतुर्थी एवं जल विहार के उत्सव पर निकाले जाने वाले विमान/जुलूस के सम्बंध में आवश्यक बैठक कलैक्ट्रेट सभागार में आयोजित की गई। बैठक में अपर जिलाधिकारी ने बताया कि जनपद ललितपुर में प्रतिवर्ष जन्माष्टमी, जल विहार एवं गणेश चतुर्थी एवं मोहर्रम जैसे त्यौहारों पर जुलूस निकाला जाता है। किन्तु वर्तमान समय में कोरोना महामारी का प्रभाव बढ़ता ही जा रहा है, जिसके कारण जनपद में किसी भी स्थान पर भीड़ एकत्र होने से संक्रमण का खतरा हो सकता है। आगामी त्यौहारों पर सार्वजनिक स्थानों पर भीड़ को रोकने के लिए आज यह महत्वपूर्ण बैठक जनपद के धर्मगुरूओं के साथ आयोजित की गई है। बैठक में पुलिस अधीक्षक ने कहा कि इस माह जन्माष्टमी, स्वतन्त्रता दिवस, गणेश चतुर्थी, जलविहार तथा मुहर्रम जैसे त्यौहारों पर किसी भी किसी भी प्रकार का जुलूस निकालकर भीड़ एकत्र नहीं करना है। इस कोरोना महामारी के समय जनपदवासियों द्वारा प्रशासन का पूर्ण सहयोग किया जा रहा है। पुलिस प्रशासन भी लोगों के सहयोग के लिए पूर्ण रूप से तत्पर है। त्यौहारों में जनपद के सभी धर्मगुरू लोगों को जागरूक करें कि वह घरों से बाहर निकलकर सार्वजनिक स्थलों पर भीड़ एकत्र न करें। इस समय हमारी और दूसरों की सुरक्षा सर्वोपरी है। हमें अपने घरों में रहकर ही ईश्वर से यह प्रार्थना करनी चाहिये। बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि वर्तमान समय आपातकाल का समय है। इस कोरोना महामारी ने सम्पूर्ण विश्व को अपनी चपेट में ले लिया है। जनपद के धर्मगुरूओं ने इस महामारी के समय प्रशासन को पूर्ण सहयोग किया है। लोगों ने बकरीद एवं रक्षाबन्धन का त्यौहार अपने घरों में मनाकर जागरूकता का प्रमाण दिया है। इसी प्रकार आगामी त्यौहारों के दृष्टिगत जन्माष्टमी के त्यौहार पर भी भक्तजन अपने घरों में रहकर ही भगवान श्रीकृष्ण का पूजन करेंगे। जुलूस निकालकर सड़कों पर किसी भी प्रकार की भीड़ एकत्र नहीं की जाएगी। जल विहार के अवसर पर भी किसी प्रकार का जुलूस नहीं निकाला जायेगा। भक्तजन अपने घरों में ही भगवान का जलाभिषेक करेंगे, जिससे जनपद में भीड़ के कारण संक्रमण का खतरा न रहे। उन्होंने कहा कि गणेश उत्सव के समय श्रद्धालू अपने घरों में ही गणेश जी की छोटी सी प्रतिमा रखकर पूजा करें, पूजन के बाद किसी भी श्रद्धालू द्वारा गणेशजी की मूर्ति का विर्सजन नहीं किया जाएगा। आगे स्थिति अनुकूल होने पर ही गणेश जी की मूर्ति के विसर्जन की स्थिति पर विचार किया जायेगा। बैठक में जिलाधिकारी ने सफाई व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए जन्माष्टमी के त्यौहार पर जनपद में मास एवं मीट की दुकानें बन्द रखने के निर्देश दिये। बैठक में पुलिस अधीक्षक कैप्टन एम.एम.बेग, अपर जिलाधिकारी अनिल कुमार मिश्र, मुख्य विकास अधिकारी अनिल कुमार पाण्डेय, एल.आई.यू. प्रभारी प्रीति दीक्षित सहित जनपद के धर्मगुरू उपस्थित रहे।

कोई टिप्पणी नहीं