Breaking News

विश्व हिन्दू परिषद् ने श्रीराम जन्मभूमि पर होने वाले मंदिर के निर्माण के निमित्त पूजन के सम्बन्ध में एक वृहद कार्ययोजना की तैयार ।

टीकमगढ़ । विश्व हिन्दू परिषद् ने श्रीराम जन्मभूमि पर होने वाले मंदिर के निर्माण के निमित्त पूजन के सम्बन्ध में एक वृहद कार्ययोजना तैयार की है । विश्व हिंदू परिषद टीकमगढ़ के  जिला अध्यक्ष राजकुमार पाठक ने बताया की आगामी पांच अगस्त को एक ओर जहां अयोध्या में भगवान श्री राम के भव्य मंदिर के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पूज्य संतों, विद्वानों, ट्रस्टीयों तथा अन्य गणमान्य लोगों के साथ अयोध्या में पूजन कर रहे होंगे वहीँ सम्पूर्ण देश उस अनुपम दृश्य को  अपने-अपने टीवी चैनलों पर  लाइव देख रहा होगा । इस पूजन में देशभर की पवित्र नदियों का जल तथा तीर्थों की पावन माटी के संयोग से श्रीराम जन्म भूमि का यह मंदिर सामाजिक समरसता, राष्ट्रीय एकात्मता तथा हिंदुत्व के भाव जागरण का एक चिरजीवी दैदीप्यमान केंद्र बनेगा. हिन्दू समाज की सैकड़ों वर्षों की अनवरत तपश्चर्या के उपरांत रामभक्तों की आकांक्षाओं के पूर्ण होने की इस पावन वेला पर आग्रह है आफ  सभी  जिले के समस्त मठ मंदिरों में कम से कम 101 दीपक प्रज्वलित कर उत्सव मनाएं व  समस्त हिन्दू समाज अपने घरों में दीप प्रज्ज्वलित करें !

◆       पांच अगस्त को सभी पूज्य सन्त-महात्मा अपने-अपने मठ-मन्दिरों, आश्रमों में व सभी रामभक्त अपने-अपने घरों या निकट के मन्दिरों या आश्रमों में सामूहिक बैठकर प्रात:10.30 बजे से अपने-2 आराध्य देव का भजन-पूजन कीर्तन स्मरण करें, पुष्प समर्पित करें, आरती करें तथा प्रसाद बाँटें।
◆      किसी बड़े सभागार / हॉल में टेलिविज़न / परदे द्वारा अयोध्या में भूमि पूजन के  कार्यक्रम को अपने-2 स्थानों के समाज को लाइव दिखाने की यथासम्भव योजना-रचना करें।
◆     अपना घरों, मुहल्लों, ग्रामों, बाज़ारों, मठ-मन्दिरों, गुरुद्वारों, आश्रमों इत्यादि में यथाशक्ति साज-सज्जा करें, व  प्रसाद वितरण कर सायंकाल सूर्यास्त के बाद दीप जलायें।

◆      वर्तमान परिस्थितियों में अयोध्या आने से बहुत असुविधा हो सकती है अतः अपने घरों, निकट के मठ-मंदिरों या स्थानीय सार्वजनिक स्थलों पर ही इस उत्सव को धूमधाम से मनायें।
◆       प्रचार के सभी साधनों का उपयोग करते हुए समाज के अधिकाधिक लोगों तक इस भव्य कार्यक्रम को पहुँचायें।
        उपरोक्त सभी योजनाओं व कार्यकर्मों में कोरोना से रक्षा के सभी साधन अपनायें तथा इस सम्बन्ध में आए सरकारी व प्रशासनिक दिशा-निर्देशों का पालन करें !
                                                                                                   
                                                                                                       
                                                                     

कोई टिप्पणी नहीं