Breaking News

दो पक्षों में हुए खूनी संघर्ष मामले में जतारा पुलिस ने 10 घंटे में पांच आरोपी किए गिरफ्तार



थाना जतारा अंतर्गत ग्राम पिपरट  में  दो पक्षों में हुये खूनी संघर्ष में एक बुजुर्ग की मौत के मामले में पुलिस ने घटना के 10 घंटे के अंदर ही पांचों आरोपियों को छापामार कार्यवाही करते हुए गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है घटना के संबंध में जानकारी देते हुए थाना प्रभारी जतारा रश्मि जैन ने बताया कि खेत के विवाद के साथ ही  शामीलाती कुआं पर मोटर चलाने के विवाद पर  से हमलाकर जानसे मारने के अपराध के आरोपी तत्काल गिरफतार घटना दिनांक 21/07/2020 को थाना जतारा में फरियादी राहुल यादव पुत्र गोबर्धन यादव उम्र 37 वर्ष निवासी ग्राम पिपरट ने सुबह सूचना दी कि आज सुबह मेरी मां के द्वारा खेत पर मोटर चलाने के विवाद पर से आरोपी 1. गोकुल यादव तनय श्यामलाल  यादव 2. प्रहलाद यादव  पुत्र गोकुल यादव 3. मल्थू यादव पुत्र श्यामलाल यादव 4. काशीराम यादव पुत्र श्यामलाल यादव 5. संजीव यादव   पुत्र गोकुल यादव ने मिलकर मां जमुना मेरी पत्नी उमा एवं मेरी भाभी पुष्पा से गाली गलोच कर कुल्हाड़ी से मारपीट कर दी जिसकी सूचना मेरी मां ने घर पर आकर दी जिस पर मेरे पिताजी गोवर्धन यादव एवं मेरा भाई पुष्पेन्द्र एवं धर्मपाल उन्हे बचाने गये जिस पर आरोपियो द्वारा मेरे पिताजी एवं भाईयो पर धारदार हथियारो कुल्हाड़ी आदि से जानलेवा हमला कर दिया जिसपर हमारे परिवार के सदस्यो को गंभीर चोटे आयी जिन्हे अस्पताल ईलाज हेतु लाया गया। उक्त सूचना को गंभीरता से लेते हुये थाना प्रभारी जतारा द्वारा प्रकरण कायम कर तत्काल वरिष्ठ अधिकारियो को अवगत करया गया जिस पर  पुलिस अधीक्षक टीकमगढ  प्रशान्त खरे द्वारा आरोपियो कि गिरफतारी हेतु एसडीओपी जतारा  योगेन्द्र सिंह को दिशा निर्देष देकर टीमे गठित की। अस्पताल में ईलाज के दौरान फरियादी के पिता गोवर्धन यादव की मृत्यु हो गई। गठित टीम द्वारा तत्काल मेहनत व लगन से 04 आरोपियो 1. गोकुल यादव पुत्र श्यामलाल  यादव 2. प्रहलाद यादव  पुत्र गोकुल यादव 3. मल्थू यादव पुत्र श्यामलाल यादव 4. काशीराम यादव पुत्र श्यामलाल यादव   संजीव यादव पुत्र गोकुल यादव को गिरफतार किया गया है। जावेगा उक्त टीम में उपनिरीक्षक रश्मि जैन , उपनिरीक्षक एस0एन0 कोल उपनिरीक्षक रवि सिंह उपनिरीक्षक अजय प्रताप सिंह सउनि0 मोहन सिंह  सउनि0 सहीद खान आर0 धीरेन्द्र  आरक्षक राहुल यादव, आरक्षक तेजसिंह आरक्षक पुष्पेन्द्र शर्मा की सराहनीय भूमिका रही।

कोई टिप्पणी नहीं